भोपाल में पानी को लेकर मचा कोहराम, पांचवे दिन मिला भी तो गंदा पानी, कांग्रेस ने कहा- बीजेपी हटाओ, मध्य प्रदेश बचाओ

पिछले 4 दिनों से लगभग 10 लाख की आबादी पानी को लेकर परेशान रही, रविवार रात को भी निगम ने आश्वासन दिया था, लेकिन सोमवार सुबह कई जगहों पर पानी नहीं पहुंचा

Updated: May 16, 2022, 12:05 PM IST

भोपाल में पानी को लेकर मचा कोहराम, पांचवे दिन मिला भी तो गंदा पानी, कांग्रेस ने कहा- बीजेपी हटाओ, मध्य प्रदेश बचाओ
Courtesy: MP Samachar Breaking

भोपाल। इस भीषण गर्मी में राजधानी भोपाल में पानी का संकट गहरा गया है। रविवार को जगह-जगह से हाथ में डब्बा लिए पानी की तलाश में घूमते लोगों की तस्वीरें देखने को मिली है। रविवार को भी 40 फीसदी आबादी तक पानी नहीं पहुंच सका। निगम ने शनिवार को वादा किया था कि टेस्टिंग का काम पूरा कर लिया गया है, रात तक टंकियों में पानी भरने के बाद सुबह रविवार को सभी जगह पानी पहुंच जाएगा। 

यह भी पढ़ें: राजगढ़ में आधी रात तक चलता रहा दलित की बारात का संघर्ष, दिग्विजय सिंह की दख़ल के बाद पुलिस अधिकारियों के संरक्षण में हुई शादी

एक तरफ सरकार पानी की समस्या के निवारण का दावा करती रही, लेकिन सच्चाई है कि इस तपती गर्मी में नागरिक नाले में उतरकर पानी भरने को मजबूर हुए। वहीं पिछले 4 दिनों से  10 लाख की आबादी पानी को लेकर परेशान रही। रविवार रात को भी निगम ने आश्वासन दिया था, लेकिन सोमवार सुबह कई जगहों पर पानी नहीं पहुंचा। जिन घरों में पानी की सप्लाई की गई, वहां पानी आया भी तो गंदा मटमैला पानी आया।

यह भी पढ़ें: गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 49℃ की तपिश से झुलसी दिल्ली, लोगों को सावधानी बरतने की सलाह

भोपाल में पेयजल सप्लाई की रिपेयरिंग के चलते वाटर सप्लाई शट डाउन है। जिस कारण पूरे शहर में लोग पानी की समस्या को लेकर परेशान हैं। पाइप लाइन की सप्लाई के नाम पर लाखों गैलन पानी रिवेरा टाऊनशिप के पास नाले में बाहर जा रहा है। पानी के लिए लोग इतना परेशान हो गए कि इसका अंदाजा चूनाभट्टी में हुई घटना से लगा सकते हैं।  चूनाभट्टी में रविवार रात 1 बजे कोलार लाइन का पानी जब बहकर सड़क में पहुंचा तो लोग उसे छान कर भरने लगे। जनता एक तरफ पानी की समस्या को लेकर गुहार लगाती रही, तो दूसरी तरफ सरकार झूठे अश्वासन से उनकी प्यास बुझाने की कोशिश करती रही। 

पानी की ऐसी अव्यवस्था अगर राजधानी भोपाल में देखने को मिल रही है तो ऐसे में सवाल उठने लगा है कि पूरे प्रदेश के हालात कितने बदतर होंगे। इसी को लेकर आज एमपी कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। पानी की समस्या से जूझते प्रदेश में कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा कि "पूरे मध्यप्रदेश में गंभीर जलसंकट। लोग नालियों का गंदा पानी घर ले जा रहे। बीजेपी सरकार के 18 वर्षों के शासन के बाद भी आज प्रदेश बिजली, पानी और सड़क जैसी मूलभूत ज़रूरतों के लिए परेशान हो रहा है। बीजेपी हटाओ, मध्यप्रदेश बचाओ"

 

इससे पहले जब रिवेरा टाउनशिप के पास नाले में पानी बहने की सूचना कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा और कांग्रेस नेता गुड्डू चौहान को मिली, तो तुरंत मौके पर पहुंच गए। उन्होंने वाटर सप्लाई लाइन का काम करने वाली टाटा कंपनी के कर्मचारियों की क्लास लगाई। थोड़ी देर बाद जब वहां नगर निगम के चीफ इंजीनियर जेड वाई खान भी पहुंचे तो इंजीनियर ने सफाई देते हुए बताया था कि पाइप लाइन की वॉशिंग के कारण गंदा पानी बहाया जा रहा है। पानी की समस्या को लेकर चीफ इंजीनियर और कांग्रेस नेता गुड्डू चौहान के बीच जमकर बहस हुई थी।

यह भी पढ़ें: बीना के रामकथा आयोजन में नारियल पाने की होड़ में मची भगदड़, 20 लोग घायल, 3 लोगों की पैर की हड्डी टूटी

वहीं पानी की समस्या को लेकर थोड़ी देर से जगीं भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने नगर निगम कमिश्नर को फोन पर जमकर फटकारा लगाया है। साथ ही नगरीय आवास एवं विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी पानी की समस्या और सप्लाई शुरू नहीं होने पर नाराजगी जताई है।