इंदौर में DAVV के प्रोफेसर को जान से मारने की धमकी, ABVP कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज

क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान ABVP के कार्यकर्ताओं ने प्रोफेसर पर एक खिलाड़ी को जबरन बॉलिंग का मौका देने का बनाया था दबाव, प्रोफेसर के मना करने पर गाली गलौज कर मारने की धमकी दी

Updated: Jan 07, 2022, 05:11 PM IST

इंदौर में DAVV के प्रोफेसर को जान से मारने की धमकी, ABVP कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज
Photo Courtesy: Public app

इंदौर। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान हुआ विवाद थाने तक पहुंच गया है। पुलिस ने स्कूल ऑफ फिजिकल एजुकेशन के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर दीपक मेहता की शिकायत पर ABVP के शहर महासचिव लकी आदिवाल और उसके साथियों के खिलाफ भंवरकुआं थाने में शिकायत दर्ज कर ली है। प्रोफेसर दीपक मेहता का आरोप है कि ABVP कार्यकर्ताओं ने उनके साथ सार्वजनिक तौर पर गालीगलौज की और जान से मारने की धमकी दी है।   

दरअसल शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय इंटर कालेज क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन कर रहा है। जहां गुरुवार को विश्वविद्यालय की टीम का मैच सरकारी कालेज से हुआ था। सुबह ही ABVP के नगर मंत्री लकी आदीवाल ने नवीन गेरवाल को टीम में उचित स्थान नहीं दिए जाने को लेकर प्रोफेसर दीपक मेहता से फोन पर बहस की थी। जब प्रोफेसर क्रिकेट ग्राउंड में आए तो एक बार फिर ABVP कार्यकर्ता ने उनसे उसी बात को लेकर बदतमीजी की। जब प्रोफेसर मेहता ने उससे कहा कि मैच के फैसले कैप्टन लेते हैं, टीचर इसमें कुछ नहीं कर सकते। फिर भी वह उनसे उलझा रहा बात गाली गलौज और धक्कामुक्की तक पहुंच गई। यह हंगामा करीब घंटेभर तक चला। इस दौरान बड़ी संख्या में ABVP के कार्यकर्ता जमा हो गए और प्रोफेसर से गली-गलौच की।

प्रोफेसर का नवीन पहले से UTD की टीम में था। विवि की टीम ने सामने वाली टीम को केवल 31 रन पर आउट कर दिया। इसमें एक ही बॉलर ने सात विकेट लिए। इस वजह से अन्य बॉलर्स को बॉलिंग का मौका नहीं मिला। जिसे लेकर लकी ने विवाद शुरू कर दिया। वहीं आरोपी लकी पालीवाल ने सफाई दी है कि टीम में 16 खिलाड़ियों को सलेक्ट किया गया, लेकिन अच्छे रिकॉर्ड की जगह खराब रिकार्ड वालों को खेलने का मौका दिया गया।

प्रोफेसर ने इसकी शिकायत कुलपति डाक्टर रेणु जैन और प्रभारी रजिस्ट्रार से की और इसके बाद इंदौर के भंवरकुआं थाने में आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया।प्रोफेसर ने खेल मैदान पर सुरक्षा की मांग भी की है, ताकि बदमाश मौजूदा टूर्नामेंट को बाधित न कर सकें।