Ratlam: अवैध निर्माण पर चला प्रशासन का बुलडोज़र

रतलाम में NDPS एक्ट के आरोपी और माफिया के दो ढाबों पर निगम प्रशासन ने चलाया बुलडोज़र

Updated: Dec 17, 2020, 08:18 PM IST

Ratlam: अवैध निर्माण पर चला प्रशासन का बुलडोज़र
Photo Courtesy: khabarbaba

रतलाम। भोपाल, इंदौर के बाद रतलाम में भी प्रशासन ने अवैध निर्माण पर हथौड़ा चलाया है। जावरा में हाइवे पर बने दो ढाबों को गिरा दिया गया। इस ढाबे का अवैध निर्माण शोएब नाम के शख्स ने करवाया था। प्रशासन द्वारा गिराए गए अवैध निर्माण की कीमत करीब 25 लाख बताई जा रही है। शोएब अवैध शराब, भू माफिया है। गुंडागर्दी समेत आधा दर्जन से ज्यादा मामले उसके खिलाफ थानों में दर्ज हैं। उस पर शराब की अवैध सप्लाई के साथ साथ सरकारी जमीनों पर कब्जे का भी आरोप है।

जावरा में ढाबा गिराने की प्रक्रिया के दौरान जावरा एसडीएम राहुल धोटे समेत पुलिस और नगर निगम का अमला मौजूद था। दरअसल प्रदेश में गुंडों-बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही। प्रशासन उन माफियाओं पर सख्ती कर रहा है जो नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रोपिक पदार्थ (NDPS) समेत दूसरे केसों में भी शामिल हैं। प्रदेश में माफिया, गुंडे-बदमाशों पर सख्त कार्रवाई मुख्यमंत्री के आदेश पर हो रही है। 

दरअसल मध्य प्रदेश में ड्रग्स माफियाओं पर भी पुलिस कार्रवाई कर रही है। पिछले दिनों भोपाल में भी कथित ड्रग्स माफिया पर कार्रवाई हुई थी। पुलिस और जिला प्रशासन ने इनामी ड्रग्स माफिया हुकुमचंद कुचबंदिया के अवैध चार मंजिला मकान को जमींदोज कर दिया था। 

वहीं पुलिस-प्रशासन ने एंटी माफिया अभियान के तहत इंदौर के बाणगंगा इलाके में हिस्ट्रीशीटर हेमंत बुंदेला का अवैध मकान ध्वस्त किया था। इंदौर में ही कम्प्यूटर बाबा और रमेश तोमर के ठिकानों पर कार्रवाई हो चुकी है। प्रदेश के कई लिस्टेड लिस्टेड माफियाओं साजिद चंदनवाला, जीतेंद्र उर्फ नानू तायड़े, मनोहर वर्मा, अश्विन सिरोलिया, अरुण वर्मा, लकी वर्मा, यौन शोषण का आरोपी प्यारे मियां का अवैध निर्माण गिराया जा चुका है।