MP: उद्घाटन से पहले बह गया था पुल, दो अधिकारी और एक इंजीनियर सस्पेंड

Seoni: मध्यप्रदेश के सिवनी में 29-30 अगस्त की रात बह गया था पुल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के आदेश पर दो अधिकारी सस्पेंड

Updated: Sep 02, 2020 04:58 PM IST

MP: उद्घाटन से पहले बह गया था पुल, दो अधिकारी और एक इंजीनियर सस्पेंड
Photo Courtesy: ndtv

सिवनी। बीते दिनों मध्यप्रदेश के सिवनी में एक पुल उद्घाटन होने से पहले ही बह गया था। भारी बारिश और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़े पुल का आधा हिस्सा खम्बों के गिर जाने से पानी में बह गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश के बाद अब दो अधिकारियों और एक इंजीनियर को सस्पेंड कर दिया गया है। ग्रामीण विकास प्राधिकरण के जनरल मैनेजर जेपी महरा और असिस्टेंट मैनेजर एसके अग्रवाल को निलंबित कर दिया गया है। ब्रिज का सुपरविजन करने वाली इंजीनियर सोनल रजक को भी निलंबित कर दिया गया है। 

बारिश में बहे इस पुल का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत किया गया था। पुल सिवनी ज़िले के बरबसपुर-सुनवारा मार्ग पर वैनगंगा नदी पर बनाया गया था।150 मीटर लंबे व 9 मीटर ऊंचे इस पुल के निर्माण में 3 करोड़ 7 लाख रुपए का खर्च आया था। पुल का निर्माण कार्य सितंबर 2018 में शुरू हुआ था जो निर्माण कार्य में लगने वाले समय के पूर्ण होने से तीन महीने पहले जून 2020 में ही तैयार हो गया था। पिछले एक महीने से स्थानीय लोग पुल का इस्तेमाल भी कर रहे थे। 

पुल बहने का मामला सामने आने के बाद सरकार ने जांच के आदेश दिए थे। उसी जांच के तहत कार्रवाई करते हुए दोनों ग्रामीण विकास प्राधिकरण के दोनों अधिकारियों और इंजीनियर को सस्पेंड कर दिया गया है।