MP के 19 नगरीय निकायों में वोटिंग जारी, दिग्विजय सिंह बोले- निडर होकर मतदान करेंगे राघौगढ़ के मतदाता

कड़ाके की ठंड के बीच वोट देने बूथ पर पहुंच रहे मतदाता, दिग्विजय सिंह के गृहनगर राघौगढ़ पर टिकी सबकी निगाहें, ईवीएम में कैद हो रही प्रत्याशियों की किस्मत

Updated: Jan 20, 2023, 11:19 AM IST

MP के 19 नगरीय निकायों में वोटिंग जारी, दिग्विजय सिंह बोले- निडर होकर मतदान करेंगे राघौगढ़ के मतदाता

भोपाल। मध्य प्रदेश के 19 नगरीय निकायों में चुनाव के लिए मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हो गया है। कड़ाके की ठंड के बीच सभी निकायों के पोलिंग बूथ पर मतदाताओं का जमावड़ा देखने को मिल रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से मतदान की अपील की है। सीएम चौहान ने ट्वीट किया, "वोट डालना हमारा कर्तव्य है। सभी काम छोड़कर सबसे पहले वोट डालने जाएं। लोकतंत्र विजय हो सके इसके लिए मतदान ज़रूरी है।"

प्रदेश के 6 नगर पालिका और 13 नगर परिषदों में आज चुनाव हो रहे हैं। इन 19 नगरीय निकायों के 5 जिलों के 343 वार्डों में पार्षद चुनने के लिए 5 लाख 7 हजार 308 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। मतदान के लिए कुल 720 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि वोटिंग शाम 5 बजे तक चलेगा। ईवीएम मशीन से वोट डाले जा रहे हैं। 23 जनवरी को सुबह 9 बजे से शुरू वोटों की गिनती होगी। 

राघौगढ़ नगरपालिका के लिए भी मतदान किया जा रहा है। यह पूर्व CM दिग्विजय सिंह का गढ़ है। अभी तक भाजपा इस किले को भेद नहीं पाई है। बीते दिनों बीजेपी मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने राघौगढ़ के लोगों को धमकाते हुए कहा था कि बीजेपी में आ जाओ, वरना बुलडोजर खड़ा है। सिसोदिया कि इस धमकी पर पलटवार करते हुए पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा, "राघौगढ़ के लोग कायर नहीं हैं जो गीदड़ भभकी से डर जाएं। यह डर किसी और को दिखाना। राघौगढ़ के मतदाता निडर हो कर मतदान करेंगे।" 

राघौगढ़ नगरपालिका पर पिछले 52 वर्षों से कांग्रेस का कब्जा है। दिग्विजय सिंह ने साल 1970 में राघौगढ़ नगर पालिका से ही अपने सियासी सफर की शुरुआत की थी। इसके पहले साल 2018 में जब यहां चुनाव हुए थे तब कांग्रेस के 20 पार्षद चुनाव जीतकर आए थे, वहीं बीजेपी 4 सीटों पर सिमटकर रह गई थी। जबकि भाजपा की ओर से स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रभात झा जैसे दिग्गजों ने प्रचार किया था। इस बार भी बीजेपी ने यहां खूब मेहनत की है। हालांकि, कांग्रेस ने 24 में से सभी 24 वार्ड जीतने का दावा किया है।