Narottam Mishra: ममता के खिलाफ एमपी से पश्चिम बंगाल भेजेंगे बांग्ला भाषी लोगों की स्पेशल ट्रेन

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बांग्ला भाषी लोगों से मिलकर पश्चिम बंगाल में बीजेपी सरकार बनाने में मदद करने को कहा, मध्य प्रदेश से पश्चिम बंगाल के लिए विशेष ट्रेन चलवाने की तैयारी

Updated: Dec 16, 2020, 04:18 PM IST

Narottam Mishra: ममता के खिलाफ एमपी से पश्चिम बंगाल भेजेंगे बांग्ला भाषी लोगों की स्पेशल ट्रेन
Photo Courtesy: Aajtak

भोपाल। पश्चिम बंगाल में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी देश भर में रहने वाले बांग्ला भाषी लोगों का इस्तेमाल ममता बनर्जी के खिलाफ करने की तैयारी कर रही है। बीजेपी की इस योजना में मध्य प्रदेश में रहने वाले बंगाली लोगों को भी शामिल करने की योजना है। इसी कोशिश के तहत मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंगलवार को पंद्रह बंगाली एसोसिएशन्स के लोगों के साथ बैठक की और कहा है कि उन्हें पश्चिम बंगाल ले जाने के लिए मध्य प्रदेश से स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। नरोत्तम मिश्रा अगले पंद्रह दिनों के दौरान पूरे प्रदेश में ऐसी और भी बैठकें आयोजित करने वाले हैं।

नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल के भोजपुर क्लब में बांग्ला भाषी लोगों से कहा कि आप पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के शासन को नष्ट करके प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनवाने में अपना योगदान दें। नरोत्तम मिश्रा ने कि जिस राज्य ने भारत को आजादी दिलाने में देश का नेतृत्व किया हो, हर क्षेत्र में देश को दशा और दिशा दी, आज वह ऐसी हालत में है कि देखकर दुख होता है। उन्होंने कहा, 'ममता सरकार टुकड़े-टुकड़े गैंग का प्रतिनिधित्व करती है और देश को बांटने वाली ताकतों को लगातार प्रोत्साहित कर रही है। इन हालात में मध्य प्रदेश में रहने वाले बंगाली समाज के लोगों को बंगाल को बचाने के लिए आगे आना चाहिए।'

मीडिया में आई खबरों में दावा किया गया है कि इस दौरान बांग्ला भाषी लोगों ने नरोत्तम मिश्रा को आश्वासन दिया कि वे सोशल मीडिया के माध्यम से और खुद चुनाव में पश्चिम बंगाल जाकर बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाएंगे। इसके अलावा वहां रहने वाले अपने सभी रिश्तेदारों से संपर्क कर उन्हें भी बीजेपी का समर्थन करने को कहेंगे। बता दें कि बीजेपी ने नरोत्तम मिश्रा को बंगाल के 48 विधानसभा क्षेत्रों का प्रभारी बनाया है। यही वजह है कि वे मध्य प्रदेश में रहने वाले करीब 2.5 से 3 लाख बांग्ला भाषी परिवारों को बीजेपी के पक्ष में इस्तेमाल करने की कोशिश में जुटे हुए हैं। इसी कोशिश के तहत हाल ही में उन्होंने अमिताभ बच्चन की सास से भी मुलाकात की थी।