गणेश विसर्जन के दौरान 16 लोगों की डूबने से मौत, यूपी में 8 और हरियाणा में 8 लोगों की गई जान

उत्तर प्रदेश और हरियाणा में गणपति विसर्जन के दौरान 5 जगह बड़े हादसे हुए। इनमें कुल 16 लोगों की जान चली गई।

Updated: Sep 10, 2022, 09:35 AM IST

गणेश विसर्जन के दौरान 16 लोगों की डूबने से मौत, यूपी में 8 और हरियाणा में 8 लोगों की गई जान

उत्तर प्रदेश और हरियाणा में गणपति विसर्जन के दौरान 5 जगह बड़े हादसे हुए। इनमें कुल 16 लोगों की जान चली गई। कुछ अन्य लोग लापता भी हैं। हरियाणा के महेंद्रगढ़ में झगड़ोली नहर में गणेश जी की प्रतिमा के साथ 9 लोग बह गए, जिनमें से 4 की मौत हो गई। खबर लिखे जाने तक यहां रेस्क्यू ऑपरेशन जारी था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक कनीना-रेवाडी रोड पर स्थित गांव झगड़ोली के पास नहर में गणेश की प्रतिमा विसर्जित करने गए 9 लोग पानी के तेज बहाव के साथ बह गए। देर रात आठ लोगों को नहर से बाहर निकाला गया। इनमें से 4 की मौत हो गई। अन्य 4 की हालत गम्भीर है। जबकि एक को ढूंढा जा रहा है।

हरियाणा के ही सोनीपत में यमुना नदी में भी 3 की मौत हो गई। यमुना नदी के मीमारपुर घाट पर गणपति की प्रतिमा विसर्जन के दौरान सुंदर सांवरी निवासी सुनील (45), उनका बेटा कार्तिक (13) और भतीजा दीपक (20) डूब गए। यमुना नदी के ही बेगा घाट पर रेहड़ा बस्ती का 22 वर्षीय सुमित तेज बहाव में डूब गया। प्रतिमा विसर्जन के लिए वह छह साथियों के साथ यमुना में अंदर गया था। उसके छह साथियों को यमुना से निकाल लिया गया। जबकि उसका शव ही बरामद हो सका।

यह भी पढ़ें: BJP-RSS ने देश में नफरत फैलाई, भारत जोड़ो यात्रा देश बांटने वालों के खिलाफ: राहुल गांधी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इन घटनाओं को लेकर दुःख जताया है। सीएम खट्टर ने ट्वीट किया, 'महेंद्रगढ़ और सोनीपत जिले में गणपति विसर्जन के दौरान नहर में डूबने से कई लोगों की असामयिक मृत्यु का समाचार हृदयविदारक है। इस कठिन समय में हम सभी मृतकों के परिजनों के साथ खड़े हैं। NDRF की टीम ने कई लोगों को डूबने से बचा लिया है, मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूँ।'

उधर, UP में शुक्रवार की शाम को गणपति विसर्जन के दौरान अलग-अलग हादसों में 8 लोगों की मौत हो गई। सबसे बड़ा हादसा संत कबीर नगर की आमी नदी में हुआ। यहां एक ही परिवार के चार बच्चों की डूबने से मौत हो गई है। इनमें तीन बहन और एक भाई शामिल है। दरअसल, भाई नदी में उतरा तो तीनों बहनें भी नदी में उतर गईं। अचानक एक बच्चे का पैर गहरे पानी में चला गया। उसे बचाने के चक्कर में एक-एक कर चारों बच्चे नदी में डूबते गए। इसके अलावा उन्नाव और ललितपुर में भी 2-2 की जान गई है।