विधायक बने रहने के लिए अखिलेश यादव ने छोड़ा सांसद पद, आज़म ख़ान का भी लोकसभा से इस्तीफा

हाल ही में हुए यूपी चुनाव में समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने करहल सीट से और आजम खान ने रामपुर सीट से चुनाव जीता है.. दोनों के इस्तीफे से साफ हो गया है कि वे अब प्रदेश की राजनीति में पूरी तरह सक्रिय रहना चाहते हैं

Updated: Mar 22, 2022, 04:14 PM IST

विधायक बने रहने के लिए अखिलेश यादव ने छोड़ा सांसद पद, आज़म ख़ान का भी लोकसभा से इस्तीफा

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। मंगलवार को उन्होंने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंपा। अखिलेश यादव की पार्टी के ही कद्दावर नेता व पूर्व मंत्री आजम खान ने भी सांसदी छोड़ दी है। 

दरअसल, दोनों सपा नेताओं ने हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में हिस्सा लिया था। अखिलेश यादव मैनपुरी की करहल सीट से चुनाव जीते थे, जबकि आजम खान रामपुर से विधायक बने थे। विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद से ही यह चर्चा चल रही थी कि अखिलेश यादव विधायकी छोड़ेंगे या लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे। 

यह भी पढ़ें: कश्मीरी पंडितों के पलायन की वजह दिल्ली में बैठी हुकूमत थी, यदि मैं जिम्मेदार तो फांसी पर चढ़ा देना: फारूक अब्दुल्ला

दावा किया जा रहा था कि वह करहल सीट से विधायकी छोड़ सकते हैं लेकिन मंगलवार को उन्होंने सारी अटकलों को गलत साबित कर दिया। अखिलेश ने अपनी करहल सीट से विधायकी बरकरार रखी है और संसद सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। वह यूपी के आजमगढ़ लोकसभा सीट से सांसद हैं। इसी तरह रामपुर से विधायक आजम खान ने भी सांसदी से त्यागपत्र दे दिया। वे रामपुर से ही सांसद भी थे।

विधानसभा चुनाव में जेल से ही चुनाव लड़ने वाले आजम खान ने बीजेपी उम्मीदवार आकाश सक्सेना को 55 हजार वोटों के अंतर से चुनाव हराया था। वहीं, अखिलेश यादव ने बीजेपी के प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल को 66 हजार मतों के अंतर से हराया था। सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि अखिलेश ने यह फैसला अपने पिता और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव के कहने पर लिया है। अखिलेश यादव के इस इस्तीफे से अब साफ हो गया है कि समाजवादी पार्टी केंद्र से ज्यादा प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहने पर फोकस कर रही है।