गांधी के कारण आपको दुनियाभर में सम्मान मिलता है, मानगढ़ में पीएम मोदी से बोले अशोक गहलोत

आदिवासियों की शहीद स्थली मानगढ़ धाम पहुंचे थे पीएम मोदी, राजस्थान सीएम अशोक गहलोत, गुजरात सीएम भूपेंद्र पटेल और मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी थे मजबूत।

Updated: Nov 01, 2022, 06:01 PM IST

गांधी के कारण आपको दुनियाभर में सम्मान मिलता है, मानगढ़ में पीएम मोदी से बोले अशोक गहलोत

मानगढ़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के मानगढ़ धाम पहुंचे जहां पीएम ने पहले धूणी के दर्शन किए। ‘मानगढ़ की गौरव गाथा’ कार्यक्रम के लिए पहुंचे पीएम ने इसके बाद गोविंद गुरू की प्रतिमा और 109 साल पहले यहां शहीद हुए 1500 आदिवासियों को पुष्पांजलि अर्पित की।

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि 1857 के स्वतंत्रता संग्राम से पहले आदिवासी समाज ने आजादी का बिगुल फूंका था। हम आदिवासी समाज के योगदानों के कर्जदार हैं। भारत के चरित्र को सहेजने वाला आदिवासी समाज ही है। हालांकि, इस दौरान भी उन्होंने इसे राष्ट्रीय स्मारक बनाने की घोषणा नहीं की। कार्यक्रम में राजस्थान सीएम गहलोत की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि CM के नाते हमने साथ-साथ काम किया। अशोक गहलोत हमारी जमात में सबसे सीनियर थे। अभी भी जो हम मंच पर बैठे हैं, उनमें अशोक गहलोत सबसे सीनियर CM हैं।

यह भी पढ़ें: CFL बल्ब और घड़ी बनाने वाली कंपनी को मिला था मोरबी ब्रिज मेंटेनेंस का ठेका, दिग्विजय सिंह ने उठाए महत्वपूर्ण सवाल

इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मानगढ़ धाम के इतिहास को स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है। हमने PM मोदी से अपील की है कि इसे राष्ट्रीय स्मारक बनाया जाए। आदिवासी समाज आजादी की जंग लड़ने के मामले में किसी से पीछे नहीं था। गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया में सम्मान महात्मा गांधी के कारण मिलता है। दुनिया जानती है पीएम मोदी उस देश से आते हैं जहां 70 साल बाद भी लोकतंत्र जिंदा है। हमारी अपील है कि मानगढ़ को राष्ट्रीय स्मारक घोषित करें।

सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश को आजादी चांदी की तश्तरी में रखकर नहीं मिली है। आदिवासियों के बलिदान काे भुला दिया गया था, लेकिन मोदी सरकार ने उन्हें नमन करने का अभियान चलाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा कि 17 नवंबर 1913 का काला दिन कोई नहीं भूल सकता। आदिवासियों को विकास की मुख्य धारा में लाने का प्रयास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं।