बिहार सरकार में हुआ विभागों का बंटवारा, नीतीश के पास ही रहेगा गृह मंत्रालय

उप-मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को वे सभी विभाग सौंपे गए हैं जो पिछली सरकार में तत्कालीन उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी के पास थे

Updated: Nov 17, 2020, 03:17 PM IST

बिहार सरकार में हुआ विभागों का बंटवारा, नीतीश के पास ही रहेगा गृह मंत्रालय
Photo Courtesy : Business Standard

पटना। सोमवार को 15 मंत्रियों के शपथ ग्रहण के बाद आज नीतीश सरकार की पहली कैबिनेट बैठक हुई। मीडिया में खबरें चल रही हैं कि मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया गया है। हालांकि खबर लिखे जाने तक इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को सुशील मोदी वाले ही विभाग दिए गए हैं। इस तरह नई सरकार में वित्त, वन तथा पर्यावरण और वाणिज्य मंत्रालय बीजेपी के पास रहेंगे। जबकि रेणु देवी को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले की तरह ही इस बार भी गृह मंत्रालय अपने पास रखा है।  

इसके अलावा जेडीयू नेता अशोक चौधरी को भवन निर्माण, अल्पसंख्यक कल्याण और साइंस तथा टेक्नोलॉजी विभाग दिए गए हैं। मेवालाल चौधरी बिहार के शिक्षा मंत्री होंगे। मंगल पांडे को एक बार फिर स्वास्थ्य तथा पथ निर्माण विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। विकास चौधरी के पास ग्रामीण विकास विभाग है। 

विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाने और स्पीकर का चुनाव संपन्न कराने के लिए जीतन राम मांझी को प्रोटेम स्पीकर की ज़िम्मेदारी दी जा सकती है। गौर करने वाली बात है कि विधानसभा में वरिष्ठतम सदस्य को यह कार्य सौंपे जाने की परंपरा रही है और इस बार की विधानसभा में मांझी ही सबसे वरिष्ठ सदस्य हैं। मांझी गया की इमामगंज विधानसभा सीट से विधायक हैं।

किस मंत्री के पास कौन सा विभाग होगा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार- गृह, सामान्य प्रशासन, कैबिनेट, विजिलेंस और किसी मंत्री को तक आवंटित नहीं किए गए सभी मंत्रालय

उप-मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद-  वित्त, वाणिज्यिक कर, पर्यावरण एवं वन, सूचना प्रौद्योगिकी, आपदा प्रबंधन, शहरी विकास विभाग

उप-मुख्यमंत्री रेणु देवी- पंचायती राज,  पिछड़ी जाति उत्थान एवं ईबीसी कल्याण, उद्योग

विजय चौधरी- ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, जल संसाधन, सूचना एवं प्रसारण, संसदीय कार्य

बिजेंद्र यादव- ऊर्जा, निषेध, योजना, खाद्य एवं उपभोक्ता मामले का मंत्रालय.

मेवालाल चौधरी- शिक्षा

शीला कुमारी- परिवहन

संतोष मांझी- लघु सिंचाई, अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण विभाग

मुकेश साहनी- पशुपालन एवं मत्स्य पालन

मंगल पांडे- स्वास्थ्य, सड़क और कला एवं संस्कृति विभाग

अमरेंद्र सिंह- कृषि, सहकारी और गन्ना विभाग

रामप्रीत पासवान- पीएचईडी

जीवेश कुमार- पर्यटन, श्रम और खान विभाग