आतंकियों को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है BJP, लश्कर कनेक्शन पर तेजस्वी ने बोला हमला

तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि अधिकांश आतंकी बीजेपी और आरएसएस से जुड़े होते हैं, जम्मू में लश्कर ए तैयबा के वांटेड आतंकी निकला था बीजेपी आईटी सेल का इंचार्ज

Updated: Jul 04, 2022, 11:47 AM IST

आतंकियों को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है BJP, लश्कर कनेक्शन पर तेजस्वी ने बोला हमला

पटना। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की निर्मम हत्या के बाद हत्यारों के बीजेपी नेताओं के साथ कनेक्शन का मुद्दा अभी शांत भी नहीं हुआ था की सत्ताधारी दल का लिंक आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा से मिला है। दरअसल, लश्कर का एक वांटेड आतंकी रविवार को जम्मू से पकड़ा गया। बाद में पता चला कि बीजेपी ने उसे आईटी सेल इंचार्ज बनाया था। इस खबर के सामने आने के बाद बीजेपी चौतरफा हमले झेल रही है।

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। तेजस्वी ने कहा कि अधिकांश आतंकी बीजेपी और आरएसएस से जुड़े होते हैं, और इन्हें बचाने के लिए बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती है। तेजस्वी ने इसके साथ ही आतंकी तालिब हुसैन शाह और कन्हैयालाल के हत्यारों की बीजेपी नेताओं के साथ तस्वीर भी जारी की है।

यह भी पढ़ें: BJP का लश्कर कनेक्शन: जम्मू से पकड़ा गया वांटेड आतंकी निकला बीजेपी आईटी सेल का इंचार्ज

आरजेडी नेता ने ट्वीट किया, 'विगत कुछ सालों में लगभग सभी बड़े आतंकी/सांप्रदायिक घटनों में आरोपियों/मास्टरमाइंड का BJP के साथ जरूर कोई ना कोई रिश्ता रहता है। अगर घटना ग़ैर BJP शासित राज्य में हो तो केंद्र सरकार तुरंत हस्तक्षेप कर अपने प्रकोष्ठों को जाँच दे देती है। ऐसी घटनाओं के लाभार्थी कौन हैं सभी जानते हैं।'

उन्होंने आगे लिखा कि, 'देश में घृणा, अशांति, आतंक, अफ़वाह और अराजकता फैलाने वाले अधिकांश असामाजिक तत्व प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रूप से RSS और भाजपा से जुड़े होते है। देश की अधिकांश संवैधानिक संस्थाओं को अपने कब्ज़े में कर चुकी भाजपा ऐसे तत्वों को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाती है। देश के हालात ठीक नहीं है।'

बता दें कि जम्मू पुलिस ने रविवार सुबह लश्कर-ए-तैयबा के वांटेड आतंकी तालिब हुसैन शाह को गिरफ्तार किया था। तालिब हुसैन की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। पुलिस ने बताया कि लश्कर का यह आतंकी बीजेपी का सक्रिय सदस्य था। इतना ही नहीं उसे बीजेपी ने दो महीने पहले ही उसे आईटी सेल का इंचार्ज बनाया था।