कोडरमा में कोयला से लदी मालगाड़ी का ब्रेक फेल, डब्बों को घसीटते हुए प्लेटफॉर्म तक पहुंची, रेलवे को भारी नुकसान

सोशल मीडिया पर ट्रेन के पटरी से उतरने का जो वीडियो सामने आया है, उसे देख कोई भी सहम जाएगा। ट्रेन बेहद तेज रफ्तार में खतरनाक ढंग से स्टेशन तक पहुंची।

Updated: Oct 26, 2022, 05:55 PM IST

कोडरमा में कोयला से लदी मालगाड़ी का ब्रेक फेल, डब्बों को घसीटते हुए प्लेटफॉर्म तक पहुंची, रेलवे को भारी नुकसान

कोडरमा। कोडरमा गया रेलखंड के गुरपा स्टेशन के पास बुधवार को सुबह एक मालगाड़ी ब्रेक फेल होने के कारण हादसे की शिकार हो गई। इस घटना के कारण हावड़ा दिल्ली मेल लाइन पर रेल परिचालन पूरी तरह से ठप हो गया। इस हादसे में करीब मालगाड़ी के 53 डिब्बे क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं रेलवे को भी भारी नुकसान हुआ।

इस ट्रेन के पटरी से उतरने का वीडियो भी काफी वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि स्टेशन पर प्लेटफॉर्म के पास बहुत से लोग खड़े हैं। लेकिन तभी अचानक से फर्राटा भरती हुई ट्रेन खतरनाक ढंग में स्टेशन तक पहुंची। ट्रेन को प्लेटफॉर्म पर आते देख ही लोगों ने इधर-उधर भागना शुरू कर दिया।

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो में साफ दिख रहा है कि जब पटरी से उतरी ट्रेन स्टेशन तक पहुंची तो वहां क्या मंजर रहा होगा। इस लाईन पर अप और डाउन लाइन में ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह से बाधित हो गया है। घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नही है। घटना के बाद बरवाडीह, गया, नेसुचबो गोमो व धनबाद से दुर्घटना राहत यान और अधिकारियों की टीम घटना स्थल पर पहुंच चुकी है।

घटना के पीछे का कारण ब्रेक फैल होना बताया जा रहा है। ट्रेन के लोको पायलट और गार्ड सुरक्षित है. रेल सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार मालगाड़ी एन टी डी सी  कोडरमा स्टेशन से 2.55 पर खुली थी। मेल पासिंग ब्लॉक के कारण सुबह 4.22 बजे गझंडी स्टेशन के सेकंड लूप लाइन में आकर खड़ी हुई थी। यहां से 5.55 बजे खुली और लालबाग स्टेशन 6.12 बजे सुबह पास की। जिसके बाद ट्रेन के ड्राइवर ने घाट शुरु होने के पूर्व ब्रेक टेस्ट किया तो पाया ट्रेन का ब्रेक फेल हो गया है। जिसके बाद गार्ड से संपर्क किया और इसकी सूचना कंट्रोल को दी।

इमरजेंसी ब्रेक भी लगाया गया लेकिन वो भी काम नही किया। इस दौरान मालगाड़ी ढलान पर थी और गाड़ी की स्पीड 180 किमी की थी। इसके बाद ओएचई लाईन को भी काटना संभव नही था, माल गाड़ी के आगे-आगे कई मेल ट्रेन जा रही थी। ऐसा करने से मेल ट्रेन के मालगाड़ी से टकरा सकती थी। जिसके बाद रेलवे अधिकारियों ने अपनी समझदारी से गुरपा स्टेशन पर बने स्लीप साइडिंग में ट्रेन को रोका।जिसके बाद लेकिन स्टेशन के पास एक बोगी और इंजन तो रुक गया. लेकिन पीछे के 53 डिब्बें बेपटरी हो गए। घटना के बाद मालगाड़ी के कई डिब्बे एक दुसरे पर चढ़ गए। जिससे ओवरहेड तार क्षतिग्रस्त हो गया। साथ ही अप और डाउन लाइन पूरी तरह से ब्लॉक हो गया।