कांग्रेस पार्टी ने किया 6 समन्वय समितियों का गठन, उदयपुर के चिंतन शिविर में होगा विमर्श

मल्लिकार्जुन खड़गे को राजनीतिक समन्वय समिति का संयोजक नियुक्त किया गया है, जबकि सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण और आर्थिक मामलों का समन्वयक क्रमशः सलमान खुर्शीद और पी चिदंबरम को नियुक्त किया गया है

Updated: Apr 25, 2022, 08:39 PM IST

कांग्रेस पार्टी ने किया 6 समन्वय समितियों का गठन, उदयपुर के चिंतन शिविर में होगा विमर्श

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्तर पर अपनी राजनीति की दिशा तय करने के लिए कांग्रेस चिंतन शिविर आयोजित करने जा रही है। मई महीने में राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस पार्टी तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन करेगी। इस सिलसले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 6 समन्वय समितियों का गठन किया है। जिसमें कांग्रेस के तमाम बड़े नेताओं के नाम शामिल हैं। 

गठित की गई कुल छह समितियों के एक एक संयोजक बनाए गए हैं। जिसमें मल्लिकार्जुन खड़गे, सलमान खुर्शीद, पी चिदंबरम, भूपेंद्र हुड्डा, मुकुल वासनिक और अमरिंदर वारिंग को संयोजक बनाया गया है। मल्लिकार्जुन खड़गे को राजनीति से संबंधित समिति का संयोजक बनाया गया है, जबकि सलमान खुर्शीद को सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण और पी चिदंबरम को आर्थिक मामलों से संबंधित समिति का संयोजक बनाया गया है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण समिति के सदस्य हैं। 

कांग्रेस का यह चिंतन शिविर 13 मई से लेकर 15 मई में तक राजस्थान के उदयपुर में आयोजित किया जाना है। जिसमें कांग्रेस पार्टी के तमाम नेता शामिल होंगे। चिंतन शिविर में कांग्रेस पार्टी के लगभग चार सौ नेताओं के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। इस चिंतन शिविर में किसानों, बेरोज़गारी, महंगाई सहित तमाम समस्याओं पर भी बात की जाएगी। 

इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी जल्द ही एक एंपावर्ड एक्शन ग्रुप का भी गठन करने वाली है। जिसका प्रमुख उद्देश्य आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर रणनीति तैयार करने का होगा। हालांकि इस ग्रुप की रूपरेखा अभी तैयार नहीं की गई है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए यह बताया कि कांग्रेस पार्टी जल्द ही इस ग्रुप को गठित करने वाली है।