आज से लग रही है बूस्टर डोज, फ्रंटलाइन वर्कर्स और वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी तीसरी डोज

पहली और दूसरी खुराक के लिए जो वैक्सीन मिली है, बूस्टर डोज भी उसका ही लगेगा, हेल्‍थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही 60 साल से अधिक आयु के लोग इसे ले सकते हैं

Updated: Jan 10, 2022, 10:46 AM IST

आज से लग रही है बूस्टर डोज, फ्रंटलाइन वर्कर्स और वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी तीसरी डोज
Photo Courtesy: NDTV

नई दिल्ली। देश में Omicron वायरस के खतरे के बीच आज से बूस्टर डोज लगना शुरू हो चुकी है।कोरोना वैक्‍सीन की इस बूस्‍टर डोज को आज से हेल्‍थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ गंभीर बीमारियों से ग्रस्‍त वरिष्‍ठ नागरिक भी ले सकते हैं। देश में करीब 5.75 करोड़ लोगों को कोविड-19 की बूस्टर शॉट लगेगी। पीएम मोदी ने इसे बूस्‍टर डोज न कहकर 'प्रीकॉशन डोज' का नाम दिया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि एहतियाती वैक्‍सीन की डोज के लिए रजिस्ट्रेशन की कोई आवश्यकता नहीं है। जो इसके लिए पात्र हैं वे सीधे अपॉइंटमेंट लेकर किसी भी कोविड-19 वैक्‍सीनेशन सेंटर में टीका ले सकते हैं। तीसरी खुराक वही वैक्सीन होगी जो लोगों को उनकी पहली और दूसरी खुराक के लिए मिली है। सभी लोगों को बूस्टर डोज लगाने को लेकर फिलहाल कोई निर्णय नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें: चुनावी राज्यों में नहीं होगी वैक्सीन सर्टिफिकेट पर पीएम की तस्वीर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने लगाए फिल्टर

हेल्‍थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही 60 साल से अधिक आयु के लोग जिन्हें डायबिटीज, हाइपरटेंशन और पुरानी बीमारियां हैं, उनके पास भी डॉक्टर की सलाह पर एहतियाती खुराक प्राप्त करने का विकल्प है। हालांकि, पात्र लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के 9 महीने बाद ही बूस्‍टर डोज दी जाएगी। ब्रिटेन में एक अध्ययन में पाया गया है कि वैक्‍सीन की एक तीसरी खुराक ओमिक्रॉन संक्रमण से अस्पताल में भर्ती होने से 88 प्रतिशत तक सुरक्षा प्रदान कर सकती है।

बता दें कि देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। पिछले 24 घंटे में 1,79,723 नए मामले दर्ज किए गए हैं। सिर्फ 13 दिन में कोविड के डेली केस 28 गुणा हो गए हैं। वर्तमान में देश में 7 लाख 23 हजार 619 सक्रिय मामले हैं। पिछले 24 घंटे में 146 लोगों ने कोरोना की वजह से जान गंवाई है।