Rajnath Singh : चीन से बात जारी मामला हल होने की गारंटी नहीं

India-China LAC Standoff : लगभग 2 महीने बाद रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा, भारतीय जवानों को किया सम्बोधित

Publish: Jul 17, 2020 09:26 PM IST

Rajnath Singh :  चीन से बात जारी मामला हल होने की गारंटी नहीं
Photo Courtesy : ani

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख और जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर लेह-लद्दाख पहुंच गए हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी लद्दाख पहुंचे हैं। 

लद्दाख में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ने भारतीय जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि सीमा विवाद को सुलझाने के लिए बातचीत जारी है, लेकिन इसका कहां तक हल निकल सकता है इसकी मैं गारंटी नहीं दे सकता। मैं आपको इतना जरूर आश्वस्त कर सकता हूं कि दुनिया की कोई भी ताकत हमारी एक इंच भी जमीन हमसे नहीं ले सकती है। बातचीत से विवाद को सुलझा लिया जाता है तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता है।

 

ग़ौरतलब है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद जुलाई के पहले हफ्ते में ही लेह जाना था लेकिन तब दौरा रद्द हो गया था। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लेह गए थे। इससे पहले 3 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लेह पहुंचे थे। उन्होंने अपने दौरे में सेना को संबोधित किया था और चीन को भारत के कड़े रुख से आगाह किया था। 

मीडिया खबरों के मुताबिक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इससे पहले 3 जुलाई को लेह जानेवाले थे। लेकिन तब उनका दौरा टल गया था। 

Defence Minister Rajnath Singh, Chief of Defence Staff General Bipin Rawat and Army Chief General MM Naravane arrive at Leh Airport. Defence Minister is on a two-day visit to Ladakh and Jammu & Kashmir. pic.twitter.com/CXj2Pmoyu4

 

सूत्रों के अनुसार रक्षामंत्री उत्तरी कमान के लेफ्टिनेंट जनरल योगेश कुमार जोशी, 14 कोर के लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और अन्य वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ सुरक्षा के हालात की विस्तृत समीक्षा करेंगे। राजनाथ सिंह फॉरवर्ड इलाकों में तैनात सेना के जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाएंगे। इसके बाद वे श्रीनगर के लिए रवाना होंगे। राजनाथ सिंह श्रीनगर में सैन्य अधिकारियों और सुरक्षा एजेंसियों के अफसरों से सीमा, नियंत्रण रेखा और राज्य के आंतरिक हालातों पर बातचीत करेंगे।