देश के हर रेलवे स्टेशन पर मिलेगी कुल्हड़ वाली चाय, रेल मंत्री पीयूष गोयल का ऐलान

Indian Railways: अब तक देशभर में तकरीबन 400 रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ वाली चाय मिलती है

Updated: Nov 30, 2020, 12:43 AM IST

देश के हर रेलवे स्टेशन पर मिलेगी कुल्हड़ वाली चाय, रेल मंत्री पीयूष गोयल का ऐलान
Photo Courtesy: Asianet

नई दिल्ली। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बड़ा ऐलान किया है। गोयल ने कहा है कि अब देश के हर रेलवे स्टेशन पर कुल्हड़ वाली चाय मिलेगी। यात्रियों को प्लास्टिक कप में चाय से निजात दिलाने के लिए रेल मंत्रालय ने योजना बना ली है। देश को प्लास्टिक से निजात दिलाने के लिए और आम आदमी के स्वास्थ्य और पर्यावरण के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला लिया है। 

वर्तमान में देश भर के तकरीबन 400 रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ वाली चाय मिलती है। रेल मंत्री ने कहा है कि जल्द ही देश का हर रेलवे स्टेशन प्लास्टिक मुक्त हो जाएगा। 

मोदी के आते आते रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ की चाय खत्म हो गई थी : गोयल 

पीयूष गोयल ने कहा है कि एक ज़माना था जब रेल यात्रियों को कुल्हड़ में ही चाय मिलती थी। लेकिन जब तक मोदी सरकार सत्ता में आई तब तक रेलवे स्टेशनों से कुल्हड़ की चाय गायब हो चुकी थी। तब तक प्लास्टिक के कप में चाय मिलनी शुरू हो गई। पीयूष गोयल राजस्थान के अलवर में ढिगावड़ा रेलवे स्टेशन पर ढिगावड़ा - बांदीकुई रेलखंड पर विद्युतीकृत रेलमार्ग के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। 

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी: कृषि कानूनों को सही बताने वाले लोग क्या ख़ाक किसानों के पक्ष में हल निकालेंगे

संबोधन के दौरान गोयल ने कहा, 'मैं अभी कुल्हड़ में चाय पी रहा था और वास्तव में कुल्हड़ में चाय पीने का स्वाद ही कुछ और है.पर्यावरण को भी इससे फायदा मिलता है। रेल मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में जब से सत्ता में आए है तब से वह लोगों के स्वास्थ्य के प्रति चिंतित हैं।' पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ की चाय उपलब्ध होने से रेलवे प्लास्टिक मुक्त के अभिययान में अपना अहम किरदार निभाएगा। 

यह भी पढ़ें : किसानों ने खारिज किया अमित शाह का प्रस्ताव, बातचीत के लिए नहीं जाएंगे बुराड़ी

जल्द ही देश भर की रेलवे लाइन का शत प्रतिशत विद्युतीकरण करेंगे: रेल मंत्री 
गोयल ने कहा, 2009 से 2014 के बीच में राजस्थान में रेलवे का शून्य विद्युतीकरण हुआ था और 2014 के बाद 1433 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन का विद्युतीकरण हो चुका है। गोयल ने कहा,'रेल किसानों का सरसों देश के कोने कोने तक पहुंचाएगी और किसानों को सही मूल्य और दाम मिलेगा। जिस व्यक्ति से किसानों को पूरी कीमत मिल सकेगी उन्हें वे अपना माल भेज सकेंगे। रेल मार्ग के विद्युतीकरण से यहां से दिन रात चलने वाली मालगाडियों के खर्च कम होगा। गोयल ने कहा कि जल्द ही देशभर की रेलवे लाइन का शत प्रतिशत विद्युतीकरण करेंगे।'