DGCA का स्पाइसजेट पर कड़ी कार्रवाई, अगले आठ हफ्तों तक उड़ानों की संख्या आधी करने का आदेश

DGCA ने एयरलाइन कंपनी स्‍पाइसजेट की अगले 8 सप्‍ताह तक उड़ाने की संख्‍या आधी करने का आदेश जारी किया है, लगातार आ रही तकनीकी खामियों के बाद ये फैसला लिया गया है

Updated: Jul 27, 2022, 06:17 PM IST

DGCA का स्पाइसजेट पर कड़ी कार्रवाई, अगले आठ हफ्तों तक उड़ानों की संख्या आधी करने का आदेश

नई दिल्ली। डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशंस (DGCA) ने सख्‍त रुख अख्तियार करते हुए एयरलाइन कंपनी स्‍पाइसजेट की अगले 8 सप्‍ताह तक उड़ाने की संख्‍या आधी करने का आदेश जारी किया है। डीजीसीए ने यह फैसल स्पाइसजेट विमान में लगातार आ रही तकनीकी खामियों के बाद लिया है।

DGCA की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि विभिन्‍न स्‍पॉट चेक, निरीक्षण और कारण बताओ नोटिस पर स्‍पाइसजेट के मद्देनजर कंपनी की उड़ानों की संख्‍या आठ सप्‍ताह की अवधि के लिए आधी की गई है। सुरक्षित और विश्‍वसनीय परिवहन सेवा जारी करने के उद्देश्य से ऐसा किया गया है। हाल के दिनों में किसी एयरलाइन के खिलाफ यह संभवत: सबसे सख्‍त कार्रवाई है। 18 दिनों के अंदर फ्लाइट सेफ्टी से जुड़ी आठ घटनाएं दर्ज की गई थी, जिसके बाद डीजीसीए ने यह निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: MP के छात्र अब नहीं पढ़ सकेंगे मुगल शासकों की गाथाएं, इतिहास के पाठ्यक्रम में होगा बदलाव

इससे पहले DGCA ने 18 दिनों में तकनीकी खराबी की आठ घटनाओं के बाद स्पाइस जेट को नोटिस भेजा था। केंद्रीय नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने स्पाइस जेट को अपने नोटिस में कहा कि स्पाइस जेट सुरक्षित, विश्वसनीय हवाई सेवा स्थापित करने में विफल रहा है। बता दें कि स्पाइसजेट' के दिल्ली से दुबई जा रहे एक विमान को ईंधन संकेतक में खराबी के कारण बीते दिनों कराची की ओर मोड़ दिया गया था। वहीं उसके कांडला से मुंबई जा रहे विमान को बीच हवा में ‘विंडशील्ड' में दरार आने के बाद महाराष्ट्र की राजधानी में प्राथमिकता के आधार पर उतारा गया था।