दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर के लिए दिया चंदा, राम जन्मभूमि ट्रस्ट को प्रधानमंत्री के माध्यम से भेजा चेक

दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर के लिए 1 लाख 11 हज़ार 111 रुपये का चेक भेजा, राम मंदिर के नाम पर देश भर में चंदा जुटा रहे विश्व हिंदू परिषद को पूरा लेखा जोखा सार्वजनिक करने की सलाह भी दी है

Updated: Jan 18, 2021, 05:01 PM IST

दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर के लिए दिया चंदा, राम जन्मभूमि ट्रस्ट को प्रधानमंत्री के माध्यम से भेजा चेक
Photo Courtesy : The Print

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा दिया है। एक लाख ग्यारह हजार एक सौ ग्यारह रुपये का यह चंदा उन्होंने चेक से दिया है। दिग्विजय सिंह ने चंदे का यह चेक प्रधानमंत्री मोदी के माध्यम से राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को भेजा है। 

                                                                                                       Photo Courtesy: Twitter 

चंदे का लेखा जोखा जनता के सामने पेश करे वीएचपी: दिग्विजय सिंह 
राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने चंदा देने के साथ राम मंदिर निर्माण के नाम पर देश भर में लोगों से चंदा एकत्रित करने वाले विश्व हिन्दू परिषद से चंदे का लेखा जोखा प्रस्तुत करने की भी मांग की है। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि विश्व हिन्दू परिषद को पुराने चंदे का लेखा जोखा जनता के सामने पेश करना चाहिए। 

मैंने राम का उपयोग कभी राजनीति में नहीं किया और न ही कभी करूंगा: दिग्विजय सिंह 

कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि चूंकि धर्म निजी आस्था का विषय है जो मन, वचन और कर्म को पवित्र करके आत्मकल्याण के साथ लोक कल्याण मार्ग प्रशस्त करता है। इसलिए कोई व्यक्ति कितना धार्मिक है, उसके द्वारा यह प्रदर्शित करना उसे अहंकार की ओर ले जाता है। जो आत्मकल्याण और लोककल्याण में बाधक साबित हो सकता है। 

दिग्विजय सिंह ने कहा कि इसी कारण मैं अपने धर्म का पालन कैसे करता हूं, यह बताना मैं ज़रूरी नहीं समझता। कांग्रेस नेता ने कहा कि भगवान राम मेरे पूर्वजों की आस्था के केंद्र हैं। इसलिए राम के बिना मैं अपने अस्तित्व की कल्पना भी नहीं कर सकता। कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कि ' मध्यप्रदेश के राघौगढ़ में मेरे घर में 400 से ज़्यादा वर्षों से भगवान राम (राघौजी महाराज) का मंदिर है, जहां प्रतिदिन उनकी सेवा होती है। 

दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी में कहा है कि मेरे रक्त के कण कण में राम के मौजूद होने के बावजूद मैंने कभी उनके नाम को कभी अपनी राजनीति में मिश्रित नहीं किया। इससे मुझे सुकून मिलता है। और मैं धर्म का सौदा होने से बचा लेता हूं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैंने कभी राम नाम का उपयोग राजनीति में नहीं किया और न ही कभी करूंगा। मैं राम को राष्ट्रवाद से जोड़कर नहीं देखता क्योंकि महात्मा गांधी ने कहा था - ''Religion is no test of nationality but a personal matter between man and his god.''

सौहार्दपूर्ण वातावरण में एकत्रित किया जाए चंदा

 दिग्विजय सिंह ने मोदी को पत्र लिखकर मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्रित करने की प्रक्रिया को सौहार्दपूर्ण तरीके से पूरा करने की मांग की है।दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा है कि कुछ संगठन बहुत बड़े पैमाने पर लाठी, बल्लम, तलवारें लेकर मंदिर निर्माण के लिए चंदा वसूल रहे हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि ऐसा कृत्य मिश धार्मिक अनुष्ठान है क्रियाकलाप का हिस्सा नहीं हो सकते। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि चंदा एकत्रित करने के नाम पर मध्यप्रदेश के तीन जगहों पर अप्रिय घटनाएं घट चुकी हैं। देश के अन्य हिस्सों से भी ऐसी खबरे आ रही हैं। दिग्विजयलिहाज़ा प्रधानमंत्री होने के नाते यह आपकी ज़िम्मेदारी है कि चंदा एकत्रित करने का काम सौहार्दपूर्ण वातावरण में हो।

यह भी पढ़ें : MP Congress: सीधे राम मंदिर ट्रस्ट को चंदा दें लोग, बिचौलियों से बचने की कांग्रेस की अपील

राम मंदिर के लिए देश भर में विभिन्न जगहों से चंदा जुटाया जा रहा है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में तो कांग्रेस बाकायदा लोगों से जाकर यह अपील कर चुकी है कि वे मंदिर निर्माण के लिए चंदा सीधे राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के बैंक खाते में डालें। कांग्रेस लोगों को जाकर जागरूक कर रही है ताकि लोग किसी बिचौलिए के बहकावे में न आएं।