महाराष्ट्र सरकार में मंत्री अनिल परब के 7 ठिकानों पर ED का छापा, बीजेपी की मांग पर हो रही है कार्रवाई

उधर ठाकरे के करीबी मंत्री अनिल परब के 7 ठिकानों पर छापा, मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज, केंद्रीय जांच एजेंसी ईडी कर रही है कार्रवाई

Updated: May 26, 2022, 11:12 AM IST

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री अनिल परब के 7 ठिकानों पर ED का छापा, बीजेपी की मांग पर हो रही है कार्रवाई

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री और शिवसेना नेता अनिल परब के आवास समेत 7 जगहों पर छापेमारी की है। बताया  जा रहा है कि ये कार्रवाई दापोली रिसॉर्ट मामले से जुड़ी है। ईडी ने मुंबई में अनिल पारब के सरकारी और निजी आवास पर छापा मारा है। इसके अलावा ईडी ने दापोली में उनके रिसॉर्ट और पुणे में कुछ जगहों पर छापे मारे हैं।

परब को सीएम उद्धव ठाकरे जांच एजेंसी द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग की आपराधिक धाराओं के तहत शिवसेना नेता के खिलाफ एक नया मामला दर्ज करने के बाद, पुणे, मुंबई और दापोली में परब के आवास सहित सात स्थानों पर तलाशी ली जा रही है। अनिल परब से पूर्व मंत्री अनिल देशमुख से जुड़े एक अन्य मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी द्वारा पूछताछ की जा चुकी है।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार ने सोयाबीन, सूरजमुखी तेल के शुल्क मुक्त आयात की अनुमति दी, चीनी के निर्यात पर लगाई रोक

महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छापेमारी की यह कार्रवाई रत्नागिरि जिले के तटीय दापोली इलाके में भूमि सौदे में कथित अनियमितताओं और अन्य आरोपों को लेकर की है। अनिल परब के अलावा अन्य के खिलाफ धनशोधन मामले की जांच के तहत राज्य में कई जगहों पर छापेमारी की गई है। केंद्रीय एजेंसी ने धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत एक ताजा मामला दर्ज किया है, जिसके बाद दापोली, मुंबई और पुणे में कई स्थानों पर छापे मारे जा रहे हैं।

दरअसल, बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने आरोप लगाया था कि अनिल परब ने रत्नागिरी जिले की दापोली तहसील में पड़ने वाले मुरुड गांव में एक शानदार रिसॉर्ट बनवाया है। उन्होंने आरोप लगाया था कि अनिल परब ने धोखाधड़ी और जालसाजी से रत्नागिरी में दापोली के पास 10 करोड़ की लागत से रिसॉर्ट बनवाया है। ये रिसॉर्ट खेती की जमीन पर लॉकडाउन के दौरान बनाया गया। उन्होंने परब के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की थी।