तिरंगों से पटा गाजीपुर बॉर्डर, किसानों ने याद की पुरखों की शहादत, पुलिस बैरिकेड्स पर भी लगाया झंडा

दिल्ली बॉर्डर्स पर दिखा देशभक्ति का अद्भुत नजारा, हल चलाने वाले हाथों ने थामा तिरंगा, स्वाधीनता दिवस के जश्न में डूबे किसान

Updated: Aug 15, 2021, 01:19 PM IST

तिरंगों से पटा गाजीपुर बॉर्डर, किसानों ने याद की पुरखों की शहादत, पुलिस बैरिकेड्स पर भी लगाया झंडा
Photo Courtesy: Twitter

नई दिल्ली। देशभर में आज स्वाधीनता दिवस की 75वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजधानी दिल्ली के बॉर्डर्स पर देशभक्ति का अद्भुत नजारा देखने को मिला है। यहां आज सुबह हल चलाने वाले हाथों ने तिरंगा थाम मातृभूमि के जयघोष से इलाके में सकारात्मकता और जोश भर दिया।

यह भी पढ़ें: तिरंगा झंडा से ऊपर अपना झंडा फहरा रही है बीजेपी, बीजेपी कार्यालय पर दिखा विवादित दृश्य

गाजीपुर बॉर्डर को किसानों ने पूरी तरह तिरंगों से पाट दिया। अन्नदाताओं ने पुलिस बैरिकेड्स पर भी सभी जगह राष्ट्रध्वज लगा दिए। किसानों ने स्वाधीनता संग्राम के दौरान देश के लिए जिंदगी न्योच्छावर करने वाले अपने पुरखों के बलिदान को याद किया। किसानों द्वारा स्वतंत्रता दिवस मनाए जाने की कई तस्वीरें भी सामने आई है। 

किसानों ने पहले ही ऐलान किया था कि स्वतंत्रता दिवस पर वे दिल्ली के भीतर दाखिल नहीं होंगे। उन्होंने तय किया था कि वे धरना स्थलों पर ही शांतिपूर्ण तरीके से स्वतंत्रता दिवस मनाएंगे। बावजूद इसके दिल्ली के भीतर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। यहां तक कि लाल किले के सामने दर्जनों कंटेनर रखा गया था। 

उधर किसान नेता राकेश टिकैत ने हरियाणा के टोहाना में ध्वजारोहण किया। उनके इस कार्यक्रम में काफी बच्चे भी शामिल हुए। टिकैत ने देशभर के किसानों से अपील किया था कि वे अपने खेत-खलिहानों में स्वतंत्रता दिवस मनाएं और ट्रैक्टरों पर तिरंगा लगाए। देश के कई राज्यों में किसान खेतों में ध्वजारोहण कर केंद्र सरकार द्वारा लागू विवादास्पद कृषि कानूनों का विरोध किया।