बाबरी विध्वंस की बरसी पर मथुरा में कारसेवा, हिंदू महासभा ने दी मस्जिद में मूर्ति स्थापित करने की धमकी

हिंदू महासभा ने कहा है कि देश की सभी पवित्र नदियों के जल से लड्डू गोपाल का शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक किया जाएगा, इसके बाद मूर्ति स्थापित की जाएगी

Updated: Nov 18, 2021, 03:42 PM IST

बाबरी विध्वंस की बरसी पर मथुरा में कारसेवा, हिंदू महासभा ने दी मस्जिद में मूर्ति स्थापित करने की धमकी
Photo Courtesy: India Today

मथुरा। अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने धमकी दी है कि 6 दिसंबर को मथुरा के शाही ईदगाह मस्जिद में भगवान श्रीकृष्ण को स्थापित किया जाएगा। हिंदू महासभा के मुताबिक भगवान श्री कृष्ण का असली जन्मस्थान मशहूर मंदिर से सटे मस्जिद में है।

हिंदू महासभा ने जो तारीख तय की है उसी दिन साल 1992 में अयोध्या की बाबरी मस्जिद को तोड़ा गया था। 6 दिसंबर को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विश्व हिंदू परिषद शौर्य दिवस के रूप में मनाते हैं। हालांकि, इस बारे में पूछे जाने पर हिंदू महासभा ने तारीख को सोच समझकर रखने की बात से इनकार किया।

यह भी पढ़ें: StandUp पर भावनाओं का सेंसर, Two Indias पर बवाल, जानें वह Joke जिसपर हंसी नहीं आती

हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजश्री चौधरी ने एक बयान जारी कर कहा, 'हमें आजाद भारत, सनातन भारत को वापस लाना है। अंग्रेजों से भारत मुक्त कैसे हो, इसके लिए हमारे पूर्वजों ने बलिदान दिया। हम चाहते हैं कि आजाद भारत उभर कर सामने आए।'

चौधरी ने आगे कहा कि, 'ये मस्जिद नहीं ईदगाह है और इसका मतलब है पब्लिक प्लेस, तो फिर ये विवाद कैसा। यहां तो कोई भी कभी भी जा सकता है। ईदगाह को हम खोदेंगे तो आज भी ठाकुर केशवदेव मंदिर से जुड़ी मूर्तियां निकलेंगी। हम उसी पवित्र स्थान पर जलाभिषेक करेंगे। हमारी इच्छा है कि बाल गोपाल वहीं रहें। जलाभिषेक के लिए महासभा के पदाधिकारी देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित पवित्र नदियों का जल लाएंगे।'

यह भी पढ़ें: जलसमाधि वाले महंत ने दी नई धमकी, बोले- सलमान खुर्शीद की किताब बैन करो वरना आत्मदाह कर लूंगा

राजश्री चौधरी के मुताबिक 12 नवंबर को ही हिंदू महासभा ने मेल के माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्रालय को कार्यक्रम की सूचना दे दी है। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन से भी हम यही चाहते हैं की वे हमें वहां जाकर पूजा करने की अनुमति दें। उन्होंने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी मथुरा में कार सेवा करने जाने वालों पर पुष्प वर्षा करने का आश्वासन दिया है। 

हिंदू महासभा ने कहा कि अयोध्या का मुद्दा 70 सालों में जाकर पूर्ण हुआ है, लेकिन मथुरा में अब इतना इंतजार नहीं किया जा सकता। क्योंकि मथुरा के बाद काशी और तेजोमहल भी हमारे प्रमुख मुद्दों में शामिल हैं।