मैं फिर दोहराऊँगा आज़ादी के आंदोलन में भाजपा का कोई योगदान नहीं रहा, संसद में बोले कांग्रेस अध्यक्ष

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने आजादी में बीजेपी की भूमिका को लेकर जो बयान दिया, उस पर आज संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा देखने को मिला, हालांकि, खड़गे ने कहा कि मैं अपने बयान पर कायम हूं।

Updated: Dec 20, 2022, 01:34 PM IST

मैं फिर दोहराऊँगा आज़ादी के आंदोलन में भाजपा का कोई योगदान नहीं रहा, संसद में बोले कांग्रेस अध्यक्ष

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के "आजादी के आंदोलन में बीजेपी का योगदान" वाले बयान पर संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा देखने को मिला। सत्ताधारी दल बीजेपी के सदस्य मांग कर रहे थे कि खड़गे सदन में माफी मांगें। हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष ने स्पष्ट कहा कि मैं अपने बयान पर कायम हूं। उन्होंने कहा, 'मैं फिर दोहराऊँगा आज़ादी के आंदोलन में भाजपा का कोई योगदान नहीं रहा।'

दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राजस्थान के अलवर में सोमवार को कहा था कि, 'हमने देश को आज़ादी दिलाई और देश की एकता के लिए इंदिरा और राजीव गांधी ने अपनी जान की क़ुर्बानी दी। हमारे पार्टी के नेताओं ने अपनी जान दी, आपने क्या किया? आपके घर में कोई देश के लिए कुत्ता तक मरा है? क्या (किसी ने) कोई क़ुर्बानी दी है? नहीं।'

इसी बयान को लेकर सत्ता पक्ष के सांसद मंगलवार को सदन में हंगामा करने लगे। वो खड़गे से माफी की मांग कर रहे थे। हंगामे की वजह से लोकसभा की कार्यवाही 11.30 तक स्थगित कर दी गई। हालांकि, खड़गे ने अपने बयान पर माफी मांगने से साफ इंकार करते हुए कहा कि मैं अभी भी अपने बयान पर कायम हूं। मैने जो कहा वह सदन के बाहर कहा था।

खड़गे ने राज्यसभा में कहा कि, 'मैंने राजस्थान के अलवर में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान जो कहा वह सदन के बाहर था। मैंने जो कहा वह राजनीतिक रूप से सदन के बाहर था, भीतर नहीं। उस पर यहां चर्चा करने की जरूरत नहीं है। लेकिन मैं अभी भी यह कह सकता हूं कि स्वतंत्रता संग्राम में भाजपा की कोई भूमिका नहीं थी। बीजेपी के लोगों ने जब कहा कि कांग्रेस भारत तोड़ो यात्रा कर रही है, तब जाकर मैंने ये बात बोला। 

इस दौरान राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने सदस्यों से सदन में मर्यादा बनाए रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि अगर हम मर्यादा का पालन नहीं करते हैं तो देश के 135 करोड़ से अधिक लोग हमारा मजाक उड़ा रहे हैं। वहीं, केंद्रीय संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष ने जिस तरह की भाषा अलवर में प्रयोग की, मैं उसकी घोर निंदा करता हूं। यह ओरिजिनल कांग्रेस नहीं है यह गलत कहते हैं कि आजादी की लड़ाई में केवल कांग्रेस थी।