सिर्फ वैक्सीन का इंतज़ार, टीकाकरण के लिए सरकार पूरी तरह तैयार

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि जल्द ही वैक्सीन को अप्रूवल मिल सकता है, सरकार ने तैयारियां पूरी कर ली हैं

Updated: Dec 09, 2020, 03:07 PM IST

सिर्फ वैक्सीन का इंतज़ार, टीकाकरण के लिए सरकार पूरी तरह तैयार
Photo Courtesy: India.com

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के टीके का इंतजार कर रहे लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। देश में कोरोना के नए मामलों में गिरावट के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दावा किया है कि सरकार ने टीकाकरण की तैयारियां करीब-करीब पूरी कर ली हैं। मंत्रालय के बयान के मुताबिक जल्द ही टीके की मंजूरी भी दे दी जाएगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण एवं नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने मंगलवार को कहा कि औषधि नियामक कोरोना वायरस के तीन टीकों पर गंभीरता से विचार कर रहा है। इनमें से सभी को या किसी एक-दो को जल्द ही मंजूरी मिल जाएगी। लाइसेंस मिलने के बाद जल्द ही देश में टीकाकरण का काम भी शुरू हो जाएगा।

केंद्र सरकार को-विन सॉफ्टवेयर पर अग्रिम मोर्चे के स्वास्थ्यकर्मियों का आंकड़ा अपलोड कर रही है, जिसके माध्यम से टीकाकरण कार्यक्रम पर नजर रखी जाएगी। मंत्रालय के मुताबिक टीकाकरण के लिए पहली श्रेणी में स्वास्थ्य विभाग से जुड़े देशभर के एक करोड़ लोगों को चिन्हित किया गया है। वहीं दूसरे फेज में करीब दो करोड़ अग्रिम मोर्चे के कर्मियों को टीका देने की बात कही गई है। इनमें पुलिस, सुरक्षाबल, सिविल डिफेंस, होमगार्ड, निगम कर्मी आदि आते हैं।

सरकार ने प्राथमिकता के हिसाब से तीसरे फेज में 27 करोड़ लोगों को टीका लगाने की योजना बनाई है। इनमें 50 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को और कम उम्र के वैसे लोग जो अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं उन्हें शामिल किया गया है। बताया गया है कि यदि टीका पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होगा तो तीनों समूहों का टीकाकरण एक साथ भी शुरू किया जा सकता है। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राजेश भूषण ने कहा, 'एक बार जब हमें अपने वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिल जाती है, तो हम बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन शुरू करेंगे। हमने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए एक रूपरेखा तैयार की है और इसे कम से कम समय में प्रत्येक व्यक्ति को मुहैया कराया जाएगा।' उन्होंने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए आवेदन किया है। भारत में 6 वैक्सीन ट्रायल में हैं जिनमें कुछ को अगले कुछ हफ्तों में लाइसेंस मिलने की उम्मीद है।