बीजेपी के चार शब्दों वाले नारे में तीन शब्द तो उर्दू के हैं, जावेद अख्तर ने ली चुटकी

जावेद अख्तर ने उत्तर प्रदेश में बीजेपी के चुनावी नारे का ज़िक्र करते हुए कहा कि चार शब्दों में से तीन शब्द उर्दू भाषा के हैं, गीतकार जावेद अख्तर ने तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी का यह नारा देखकर अच्छा लगा

Updated: Dec 07, 2021, 12:26 PM IST

बीजेपी के चार शब्दों वाले नारे में तीन शब्द तो उर्दू के हैं, जावेद अख्तर ने ली चुटकी

मुंबई। गीतकार जावेद अख्तर ने बीजेपी के चुनावी अभियान में उपयोग में लाए जा रहे नारे को लेकर तंज कसा है। जावेद अख्तर ने बीजेपी के नारे पर चुटकी लेते हुए कहा है कि नारे में मौजूद चार शब्दों में से तीन शब्द उर्दू के हैं। उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी का यह नारा देखकर उन्हें काफी अच्छा लगा। 

जावेद अख्तर ने अपने ट्विटर हैंडल पर उत्तर प्रदेश बीजेपी के चुनावी नारे का ज़िक्र करते हुए कहा कि यूपी बीजेपी का नारा देखकर अच्छा लगा। 'सोच ईमानदार, काम दमदार' में तीन शब्द, ईमानदार, काम और दमदार उर्दू भाषा के हैं। जावेद अख्तर के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया पर लोग तरह तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं। 

सोशल मीडिया यूजर्स जावेद अख्तर के इस ट्वीट को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की ली गई चुटकी के तौर पर देख रहे हैं। चूंकि यूपी सरकार का नाम बदलो अभियान हमेशा चर्चा में बना रहता है। लिहाज़ा सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि जावेद अख्तर ने अपने इस ट्वीट से योगी सरकार को आईना दिखाने का काम किया है।

यह भी पढ़ें: पीएम के वाराणसी दौरे से पहले प्रशासन ने गेरुआ रंग से रंग दी मस्जिद, मुस्लिम समुदाय में रोष

जावेद अख्तर की गिनती बॉलीवुड की उन चुनिंदा हस्तियों में होती है जो अपने विचारों को मुखरता से सामने रखते हैं। गीतकार जावेद अख्तर सरकारी नीतियों के खिलाफ भी मुखरता से अपनी बात रखते हैं। इसी कारण उन्हें बीजेपी के समर्थक अक्सर सोशल मीडिया पर ट्रोल करते हैं। 

यह भी पढ़ें: बिहार में लगा पीएम मोदी, सोनिया गांधी और अमित शाह को टीका, वैक्सीनेशन फर्जीवाड़े का बड़ा खुलासा

हाल ही में मराठी साहित्य सम्मेलन को संबोधित करते हुए जावेद अख्तर ने कहा था कि साहित्यकारों को बिना किसी भय के अपनी बात कहनी चाहिए। उन्हें बिना किसी डर के खुलकर अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठानी चाहिए। जावेद अख्तर के इस संबोधन के बाद शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में उनकी प्रशंसा भी की थी।