Mehbooba Mufti: दिल्ली ने जो हमसे छीना है, उसे वापस लेकर ही दम लेंगे

Article 370: मंगलवार देर रात रिहा हुईं महबूबा मुफ्ती ने कहा, अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए संघर्ष करती रहेंगी

Updated: Oct 14, 2020 01:00 PM IST

Mehbooba Mufti: दिल्ली ने जो हमसे छीना है, उसे वापस लेकर ही दम लेंगे
Photo Courtesy : Times Of India

नई दिल्ली।जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को जम्मू कश्मीर प्रशासन ने मंगलवार देर रात रिहा कर दिया। इससे पहले महबूबा मुफ्ती पर लगाया गया पब्लिक सेफ्टी ऐक्ट हटा लिया गया। जम्मू कश्मीर प्रशासन ने ऐसा महबूबा मुफ्ती की हिरासत पर सुप्रीम कोर्ट में दो दिन बाद होने वाली सुनवाई से पहले किया। 

एक साल से भी ज्यादा वक्त से कैद करके रखी गईं पीडीपी अध्यक्ष ने ट्विटर पर जारी अपने ऑडियो संदेश में कहा कि वे जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को एक बार पुनः बहाल करने का प्रयास करेंगी। मुफ्ती ने कहा ' मैं एक साल के बाद रिहा हुई हूं। बीते एक साल में हर रोज़ अनुच्छेद 370 का हटाया जाना मेरे दिल, ज़हन और रूह पर वार करता रहा। 5 अगस्त 2019 के काले दिन का फैसला हर रोज़ मुझे कचोटते रहा। कोई भी शख्स उस काले दिन को भूल नहीं सकता है।' 

महबूबा मुफ्ती ने अपने ऑडियो संदेश में आगे कहा कि 'केंद्र सरकार ने जो हमसे छीन लिया है, वो हम वापस लेकर ही दम लेंगे। जम्मू कश्मीर में हज़ारों लोगों ने अपनी जान दी, उसे बहाल करने के लिए हमें संघर्ष करना पड़ेगा।' मुफ्ती ने कहा कि जितने भी लोग जेलों में बंद है, उन्हें जल्द से जल्द रिहा किया जाने चाहिए। 

बता दें कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के साथ ही राज्य के तमाम बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया गया था। जिसमें महबूबा मुफ्ती भी शामिल थीं। फारुख अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला को मार्च में रिहा कर दिया गया था। लेकिन मुफ्ती की हिरासत 31 जुलाई को और तीन महीने के लिए बढ़ा दी गई थी। 

सुप्रीम कोर्ट ने 29 सितंबर को जम्मू कश्मीर प्रशासन से महबूबा मुफ्ती पर गए पीएसए तथा उनकी हिरासत को लेकर जवाब तलब किया था। जिसकी सुनवाई इसी हफ्ते होनी थी। कोर्ट में सुनवाई होने से पहले ही जम्मू कश्मीर प्रशासन ने महबूबा मुफ्ती को रिहा कर दिया।