क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने किया किसान आंदोलन का समर्थन

पंजाबी गायकों और अभिनेताओं के बाद अब खिलाड़ी भी किसानों के समर्थन में उतर आए हैं

Updated: Nov 30, 2020, 04:56 PM IST

क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने किया किसान आंदोलन का समर्थन
Photo Courtesy: BBC.com

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज मोंटी पनेसर ने भारत में नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पंजाब के किसानों का समर्थन किया है। उन्होंने ये भी कहा है कि नए कृषि कानून किसानों के हित में नहीं हैं। भारतीय मूल के खिलाड़ी मोंटी पनेसर के माता पिता दशकों पहले पंजाब से जाकर इंग्लैंड में बस गए थे। किसान आंदोलन का सबसे ज़्यादा असर पंजाब में ही देखने को मिल रहा है। 

मोंटी पनेसर ने किसानों के आंदोलन के समर्थन में पोस्ट करते हुए लिख, "क्या होगा अगर खरीदार यह कह दे कि फसल की क्वालिटी अब वैसी नहीं है जैसी कही गई थी, ऐसी स्थिति में किसानों के पास क्या सुरक्षा रहेगी ? कीमत फिक्स करने का विकल्प इसमें नहीं है ?" 

कानून का फायदा सिर्फ बिचौलियों को होगा : पनेसर

बाएं हाथ के पूर्व स्पिनर पनेसर ने आगे कहा कि भारत सरकार के इन कानूनों का फायदा सिर्फ बिचौलियों को होगा। पनेसर ने अपनी पोस्ट में कहा, किसान जिन तीन कानूनों का विरोध कर रहे हैं, उन कानूनों को लेकर उनका कहना है कि यह मिनिमम सपोर्ट प्राइस सिस्टम को खत्म करता है और उन्हें बड़े उद्योग घरानों के रहमो करम पर छोड़ देगा। 

पनेसर ने आगे कहा, 'ये कानून सभी अनाजों, दालों, ऑयल सीड और प्याज पर लगे ट्रेड प्रतिबंध और कीमत नियंत्रण हटाता है, इसका फायदा सिर्फ बिचौलियों और व्यापारियों को होगा। किसान चाहते हैं कि सरकार या तो ये तीनों कानूनों को हटाए या फिर उन्हें नए कानून के जरिए न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की गारंटी दे। इसी वजह से हजारों की संख्या में किसान दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं।’

बता दें कि पनेसर के अलावा पूर्व बास्केटबॉल प्लेयर अर्जुन अवार्डी सज्जन सिंह चीमा, ओलंपियन हॉकी प्लेयर गुरमेल सिंह राय और राजबीर कौर राय जैसे खिलाड़ियों ने भी किसानों के आंदोलन को समर्थन दिया है। इन्होंने कहा कि किसान अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन करना चाहते थे, लेकिन सरकार ने उन्हें रोक कर गलत किया है। शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करना लोकतांत्रिक अधिकार है।