आंध्र प्रदेश में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, 15 गुना ज्यादा खतरनाक

भारत में कोरोना संक्रमण के नए-नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं। अब आंध्र प्रदेश में बेहद ही खतरनाक कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है। इसका नाम ap strain और N440k नाम दिया गया है।

Updated: May 05, 2021, 10:28 AM IST

आंध्र प्रदेश में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन, 15 गुना ज्यादा खतरनाक
Photo courtesy: amarujala

दिल्ली। भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस का एक और नया स्ट्रेन मिला है। वैज्ञानिकों ने दावा किया है ये स्ट्रेन मौजूदा स्ट्रेन के मुकाबले 15 गुना ज्यादा खतरनाक है। ये स्ट्रेन आंध्र प्रदेश में मिला है इसलिए इसे AP Strain और N440K नाम दिया गया है। कहा जा रहा है इससे संक्रमित होने वाले मरीज 3-4 दिनों में हाइपोक्सिया या डिस्पनिया के शिकार हो रहे हैं। मतलब ऐसे मरीजों को सांस लेने में कठिनाई होती हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक, सबसे पहले इस नए स्ट्रेन की पहचान आंध्र प्रदेश के कुरनूल में हुई है।


वैज्ञानिकों की माने तो नया स्ट्रेन युवाओं और बच्चों पर तेजी से हावी हो रहा है। विशेषज्ञों का कहना है अगर समय रहते इसकी चेन को तोड़ा नहीं गया तो कोरोना की ये दूसरी लहर और भी ज्यादा भयावह हो सकती है। ये मौजूदा स्ट्रेन B1617 और B117 से कहीं ज्यादा खतरनाक है।


उल्लेखनीय है कि दक्षिण भारत में अब तक कोरोना के 5 वैरिएंट मिल चुके हैं। इनमें AP स्ट्रेन आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में तेजी से फैल रहा है। इसका असर महाराष्ट्र में भी देखा गया है।  शाखापट्टनम और राज्य के अन्य हिस्से में लोगों के बीच नए वेरियंट की वजह से खौफ पैदा हुआ है। यह अब तक का सबसे खतरनाक वेरियंट माना जा रहा है।


जिले के कोविड स्पेशल ऑफिसर और आंध्र मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल पीवी सुधाकर ने कहा, "नए वेरिएंट का इनक्यूबेशन पीरियड छोटा है और यह तेजी से फैलता है। पहले जहां एक मरीज को संक्रमण होने के लगभग एक सप्ताह बाद सांस लेने आदि में तकलीफ होती थी, लेकिन अभी संक्रमण के तीसरे-चौथे दिन ही मरीज की हालत गंभीर हो जाती है। इस वजह से अस्पतालों में ऑक्सीजन और ICU बिस्तरों पर दबाव बढ़ रहा है।


गौरतलब है कि आंध्र प्रदेश में सोमवार को कोविड -19  के 18,972 नए मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 11,63,994 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के ताजा बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 10,277 मरीजों के संक्रमण से उबरने के बाद राज्य में अब तक कुल 10,03,935 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं कोविड-19 के 71 मरीजों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 8,207 तक पहुंच गई है।