दिल्ली में 848 किलो सर्जिकल ग्लव्स बरामद, धोकर दुबारा बेचने के आरोप में 3 गिरफ्तार

दिल्ली के दो गोदामों पर पुलिस का छापा, भारी मात्रा में इस्तेमाल हुए सर्जिकल ग्लव्स बरामद, धोकर दुबारा बेचने का चल रहा था गोरखधंधा, तीन आरोपी गिरफ्तार

Updated: May 28, 2021, 11:07 AM IST

दिल्ली में 848 किलो सर्जिकल ग्लव्स बरामद, धोकर दुबारा बेचने के आरोप में 3 गिरफ्तार
Photo Courtesy: Twitter

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस के कहर के बीच स्वास्थ्य उपकरणों की कमियों की लगातार खबरें सामने आ रही हैं। इस महामारी के दौर में ऐसे मामले भी सामने आ रहे हैं, जब लोग मेडिकल हेल्प से जुड़ी चीज़ों की कालाबाज़ारी कर रहे हैं और मार्केट में बढ़ती डिमांड का नाजायज़ फ़ायदा उठा रहे हैं। आपदा में अवसर तलाशने का ऐसा ही एक गंभीर मामला राजधानी दिल्ली से सामने आया है जहां इस्तेमाल की गई सर्जिकल ग्लव्स को दुबारा धोकर बेचने का बड़े पैमाने पर गोरखधंधा चल रहा था।

मामला दिल्ली के द्वारका इलाके का है। यहां पुलिस ने सर्जिकल ग्लव्स को दुबारा धोकर पैकिंग करने के गोरखधंधे में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के दो गोदाम से 848 किलो इस्तेमाल किए गए सर्जिकल ग्लव्स भी मिले हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस को इस संबंध में गुप्त सूचना मिली थी कि डाबरी और बिंदापुर की दो इमारतों में पहले से इस्तेमाल हो चुके दस्तानों को धोकर पैकेट में पैक किया जा रहा है। पुलिस ने जब इन स्थानों पर छापेमारी की तो साढ़े आठ क्विंटल ग्लव्स देखकर अधिकारियों के होश उड़ गए। 

यह भी पढ़ें: स्टार्टअप्स पर कोरोना की मार, 59 फीसदी MSME बंदी की कगार पर

पुलिस के मुताबिक शुरुआती जांच-पड़ताल में पता चला कि आरोपियों ने टीकरी इलाके के एक व्यापारी के माध्यम से कबाड़ बाजार और हॉस्पिटल्स से इस्तेमाल हो चुके सर्जिकल दस्ताने खरीदे थे। यहां सर्जिकल ग्लव्स को साफ कर नए पैकेट्स में सील किया जाता था, जो मुख्य रूप से फैक्ट्रियों, सैलून और होटलों में सस्ते दामों पर बेचा जाता था। इन ग्लव्स की पैकिंग इतने पेशेवर तरीके से की जाती थी कि आम आदमी से लेकर हेल्थ वर्कर्स तक इन्हें पहचान नहीं सकते थे।

दिल्ली पुलिस इन आरोपियों को यूज्ड ग्लव्स सप्लाई करने वाले व्यापारी की तलाश में है। पुलिस को आशंका है कि इस पूरे रैकेट के पीछे कोई प्रभावशाली आदमी का हाथ हो सकता है। हैरानी की बात ये है कि दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में इस महीने के शुरुआत में भी इस तरह के मामले सामने आए थे बावजूद राजधानी में बेखौफ होकर लोग इस गोरखधंधा में शामिल रहे। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस्तेमाल किए गए सर्जिकल ग्लव्स बेहद खतरनाक साबित हो सकता है और इससे लोगों के संक्रमित होने का खतरा रहता है।