Narendra Modi: भारत ने कोरोना पर काबू पाकर दुनिया को बड़ी त्रासदी से बचाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम के दावोस में हो रहे समिट में कहा कि भारत दुनिया के देशों को कोरोना का टीका मुहैया करा रहा है

Updated: Jan 29, 2021, 09:48 AM IST

Narendra Modi: भारत ने कोरोना पर काबू पाकर दुनिया को बड़ी त्रासदी से बचाया
Photo Courtesy: Hindustan Times

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कोरोना महामारी संकट के दौरान भारत ने न सिर्फ अपने लोगों की जान बचाई बल्कि अपनी वैश्विक जिम्मेदारी भी निभाई। भारत कोरोना के दो मेड इन इंडिया टीके भी उपलब्ध करा चुका है और जल्द ही कई और टीके दुनिया को मुहैया कराएगा। उन्होंने कहा कि भारत की कामयाबी सिर्फ एक देश की सफलता नहीं है। जिस देश में दुनिया की 18 प्रतिशत आबादी रहती है, उसने कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण करके पूरी दुनिया को, मानवता को बड़ी त्रासदी से भी बचाया है। उन्होंने दुनिया के देशों को आश्वस्त किया कि भारत सभी के लिए कोरोना वैक्सीन मुहैया कराएगा। मोदी ने ये बातें वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम के दावोस में हो रहे शिखर सम्मेलन में कही। 

उन्होंने कहा कि कोरोना के शुरुआती दिनों में विशेषज्ञों ने दावा किया था कि भारत में कोरोना के मामलों की सुनामी आएगी। किसी ने 20 लाख से ज्यादा लोगों की मौत का अंदेशा जताया। लेकिन भारत ने निराशा को हावी नहीं होने दिया। भारत ने इस हालात से निपटने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया और इस मुहिम को हर भारतीय ने जन आंदोलन बना दिया। 

सभी को यूनीक हेल्थ आईडी

पीएम मोदी ने इस दौरान बताया कि भारत अपने सभी 130 करोड़ नागरिकों के लिए यूनीक हेल्थ आईडी डेवलप कर रहा है। इससे नागरिकों को आसानी से स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी। उन्होंने आगे कहा कि, 'कहा कि श्रम कानूनों में सुधार के साथ ही कंपनी कानून में कई बिंदुओं को कम किया गया है। 2040 तक भारत के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के लिए करीब 4.5 ट्रिलियन डॉलर की जरूरत होगी। सरकार और इंडस्‍ट्रीज को यह लक्ष्य मिलकर हासिल करना होगा। इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट सरकार की बड़ी प्राथमिकताओं में एक है।'

उन्होंने कहा कि भारत सरकार डाटा सिक्‍योरिटी के लिए सख्त कानून बना रही है। देश में अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर निवेश भी बढ़ाया जाएगा। दावोस संवाद में पीएम मोदी ने कहा कि आर्थिक मोर्चे पर भी अब भारत की तस्वीर बदलेगी। उन्होंने देश की विकास यात्रा में शामिल होने के लिए उद्योग जगत को आमंत्रित भी किया।