Suspend Hathras DM: प्रियंका गांधी ने पूछा हाथरस के डीएम को कौन बचा रहा है

Anger Against Hathras DM: हाथरस के डीएम को हटाने की मांग को लेकर गोरखपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, पीड़ित परिवार ने लगाया सबसे बुरा बर्ताव करने का आरोप

Updated: Oct-05, 2020, 02:26 AM IST

Suspend Hathras DM: प्रियंका गांधी ने पूछा हाथरस के डीएम को कौन बचा रहा है
Photo Courtesy: Twitter

हाथरस में पीड़ित के परिवार से मुलाकात के एक दिन बाद रविवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने जिले के डीएम को हटाने और पूरे मामले में उनकी भूमिका की जांच की मांग की है। कांग्रेस नेता ने कहा कि परिवार के अनुसार हाथरस डीएम ने उनके साथ सबसे ज्यादा बुरा बर्ताव किया, फिर भी ऐसे डीएम को कौन बचा रहा है।

प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा, “पीड़ित परिवार के अनुसार, उनके साथ सबसे ज्यादा बुरा बर्ताव जिलाधिकारी ने किया। उसे बचाने की कोशिश कौन कर रहा है? उसे तत्काल निलंबित किया जाना चाहिए और पूरे मामले में उसकी भूमिका की जांच होनी चाहिए। जब परिवार न्यायिक जांच की मांग कर रहा है तो फिर सीबीआई जांच और एसआईटी जांच को लेकर शोर क्यों चल रहा है।”

 

 

प्रियंका गांधी ने इस मामले में सीधे योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, अगर उत्तर प्रदेश की सरकार अपनी नींद से जाग गई है तो उसे परिवार की बात सुननी चाहिए।

 

 

हाथरस के डीएम को बर्खास्त करने की मांग

इस बीच हाथरस की घटना को लेकर देश भर में आक्रोश का माहौल आज भी बना रहा। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में कांग्रेस कार्यकर्तांओं ने हाथरस के डीएम को बर्खास्त करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसियों ने जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस की जिलाध्यक्ष निर्मला पासवान और महानगर अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शास्त्री चौक से अंबेडकर चौक होते हुए जुलूस निकाला।

अंबेडकर चौक पर पुलिस ने जुलूस निकाल रहे कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की। जिस पर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच नोकझोंक भी हो गई। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप है कि हाथरस की बेटी के साथ सरकार ने संवेदनहीनता दिखाई है। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को परिवार से मिलने से रोका गया। उनके साथ धक्कामुक्की की गई। प्रियंका गांधी के साथ हाथरस जाते समय हुई बदसलूकी को लेकर भी जिले के कांग्रेस नेताओं में काफी आक्रोश है।