भारत जोड़ो यात्रा से राहुल गांधी की लोकप्रियता में इजाफा, 63 फीसदी लोग उनके कामकाज से खुश: रिपोर्ट

एबीपी न्यूज और सी वोटर के सर्वे में सामने आया है कि तमिलनाडु और केरल के 63 फीसदी लोग राहुल गांधी के कामकाज से खुश हैं और भारत जोड़ो यात्रा शुरू होने के बाद उनकी लोकप्रियता में वृद्धि हुई है।

Updated: Sep 20, 2022, 11:37 AM IST

भारत जोड़ो यात्रा से राहुल गांधी की लोकप्रियता में इजाफा, 63 फीसदी लोग उनके कामकाज से खुश: रिपोर्ट

नई दिल्ली। राहुल गांधी की कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा की देशभर में चर्चाएं हो रही है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी की इस यात्रा से कांग्रेस पार्टी को संजीवनी मिल सकती है। एबीपी न्यूज और सी वोटर का सर्वे भी कुछ ऐसा ही बता रहा है। सर्वे में पता चला है कि "भारत जोड़ो यात्रा" से राहुल गांधी की लोकप्रियता में वृद्धि हुई है और दक्षिणी राज्यों के 63 फीसदी लोग उनके कामकाज से खुश हैं।

सी-वोटर सर्वे में राहुल गांधी के कामकाज को लेकर लोगों से राय ली गई है। इसमें सवाल पूछा गया था कि राहुल गांधी के कामकाज से आप कितने संतुष्ट हैं। सर्वे में खुलासा हुआ है कि 'भारत जोड़ो यात्रा' से राहुल गांधी की लोकप्रियता बढ़ी है। तमिलनाडु में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान 11 सितंबर को 63 फीसदी लोगों ने माना कि वो राहुल गांधी के कामकाज से संतुष्ट हैं। वहीं, इससे पहले 6 सितंबर को हुए सर्वे में 59 फीसदी लोगों ने कहा था कि वो राहुल के कामकाज से संतुष्ट हैं। 11 सितंबर को ये आंकड़ा बढ़ गया अर्थात यात्रा शुरू होने के बाद लोकप्रियता में वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में शशि थरूर और अशोक गहलोत के बीच हो सकता है मुकाबला: रिपोर्ट्स

तमिलनाडु के लिए सर्वे में 6 सितंबर को 25 फीसदी लोगों ने माना कि वो राहुल गांधी के कामकाज से असंतुष्ट हैं। वहीं, 11 सितंबर को महज 22 फीसदी लोग ही राहुल के कामकाज को लेकर अंतुष्ट दिखे। यानी यात्रा शुरू होने के बाद राहुल गांधी के कामकाम से असंतुष्ट लोगों की संख्या में भी गिरावट हुई है। वहीं केरल की बात की जाए तो वहां भी स्थिति इसी प्रकार है।

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक केरल में 10 सितंबर को 56 फीसदी लोग राहुल गांधी के कामकाज से संतुष्ट थे। लेकिन केरल में यात्रा की एंट्री के बाद 14 सितंबर को राहुल गांधी के कामकाज से संतुष्ट होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 60 फीसदी हो गई। 10 सितंबर को 31 फीसदी लोग राहुल गांधी के कामकाज से असंतुष्ट थे. वहीं, 14 सितंबर को 30 फीसदी लोगों ने माना कि वो राहुल गांधी के कामकाज से असंतुष्ट हैं। यानी भारत जोड़ो यात्रा के बाद राहुल की लोकप्रियता में यहां भी वृद्धि हुई है।