RBI Governor : Corona 100 साल का सबसे बड़ा आर्थिक संकट

Shaktikanta Das : आर्थिक वृद्धि हमारे लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता

Publish: Jul 11, 2020 07:23 PM IST

RBI Governor : Corona 100 साल का सबसे बड़ा आर्थिक संकट

कोरोना वायरस संकट को पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य और आर्थिक संकट बताते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि आर्थिक वृद्धि हमारे लिए सबसे बड़ी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक ने हमारे आर्थिक तंत्र को संरक्षित रखने और मौजूदा संकट में अर्थव्यवस्था को सहयोग देने के लिए कई कदम उठाए हैं।

उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब कई विशेषज्ञों और एजेंसियों ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था के भयंकर मंदी में फंस जाने की बात कही है। हालांकि, महामारी के पहले ही अर्थव्यवस्था में नरमी दिख रही थी। शक्तिकांद दास सातवीं एसबीआई बैंकिग एंड इकॉनमिक्स कॉनक्लेव में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन रजनीश कुमार से वीडियो कॉल पर चर्चा कर रहे थे।

RBI गवर्नर की मुख्य बातें

  • आरबीआई के लिए विकास पहली प्राथमिकता है, वित्तीय स्थिरता भी उतनी ही महत्त्वपूर्ण है।
  • आरबीआई ने उभरते जोखिमों की पहचान करने के लिए अपने ऑफसाइट निगरानी तंत्र को मजबूत किया है।
  • आरबीआई पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के लिहाज से समाधान निकालने के लिए सभी हितधारकों से बात कर रहा है।
  • मध्यावधि के लिए आरबीआई के नीतिगत कदमों में इस बात का सावधानीपूर्वक आकलन करना होगा कि संकट क्या रूप लेता है।
  • कोरोना वायरस महामारी से एनपीए बढ़ेगा और पूंजी का क्षरण होगा।
  • पूंजी जुटाना, बफर तैयार करना, ऋण प्रवाह और वित्तीय प्रणाली की मजबूती सुनिश्चित करने के लिये काफी अहम।
  • लॉकडाउन के प्रतिबंध हटने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था के वापस सामान्य स्थिति की ओर लौटने के संकेत दिखने शुरू हो गये हैं।
  • संकट के समय में भारतीय कंपनियों और उद्योगों ने बेहतर काम किया।
  • दबाव में फंसी संपत्ति से निपटने के लिए वैधानिक अधिकार संपन्न ढांचागत प्रणाली की जरूरत।