विपक्षी दलों से सोनिया गांधी की अपील, सामूहिक रूप से रणनीति तैयार करने की है ज़रूरत

सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों के नेताओं के साथ की मीटिंग, कांग्रेस समेत 19 दलों के नेता रहे मीटिंग में मौजूद, विपक्षी एकता आगे भी बनाए रखने पर बनी सहमति

Publish: Aug 20, 2021, 07:31 PM IST

विपक्षी दलों से सोनिया गांधी की अपील, सामूहिक रूप से रणनीति तैयार करने की है ज़रूरत

नई दिल्ली। संसद के मॉनसून सत्र की समाप्ति के बाद आज पहली बार सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक की। सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे भी विपक्षी एकता को बनाए रखने पर जोर दिया। सोनिया गांधी ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि विपक्ष सामूहिक रूप से एक व्यवस्थित रणनीति के तहत काम करे। 

बैठक के दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि सोनिया गांधी ने कहा, लक्ष्य 2024 लोकसभा चुनाव है जिसके लिए व्यवस्थित तरीके से योजना बनानी होगी। यह एक चुनौती है लेकिन हम मिल कर यह कर सकते हैं। सोनिया गांधी ने आगे कहा कि हमें मिलकर काम करना होगा ताकि एक सरकार बनाई जा सके, जिसमें हर व्यक्ति को संवैधानिक अधिकारों की गारंटी मिल सके। 

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि अब व्यक्त आ गया है जब सभी दलों को अपने निजी फायदे से ऊपर उठकर देश हित में सोचना होगा, ताकि इस सरकार से छुटकारा मिल सके। सोनिया गांधी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि संसद के आने वाले सत्रों के दौरान भी विपक्ष की एकता कायम रहेगी। लेकिन इससे बड़ी राजनीतिक लड़ाई संसद के बाहर लड़ी जानी है। 

सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कांग्रेस समेत कुल 19 दल शामिल हुए। जिसमें टीएमसी, एनसीपी, शिवसेना, डीएमके, आरजेडी जैसे दल शामिल हुए। हालांकि इस बैठक में समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी शामिल नहीं हुई। आम आदमी पार्टी नेता सौरभ भारद्वाज ने मीडिया से इस बैठक के सिलसिले में बात करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी को इस बैठक को लेकर कोई निमंत्रण नहीं भेजा गया था।