लखनऊ में टिकट के विवाद में टीटीई ने चलती ट्रेन से यात्री को फेंका, मौके पर मौत

टीटीई पर आरोप है कि 500 रुपये के चालान के विवाद के बाद टीटीई ने यात्री को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया. जिसके बाद ट्रेन में मौजूद यात्रियों ने टीटीई की पिटाई कर पुलिस को सौप दिया।

Updated: May 17, 2021, 10:31 AM IST

लखनऊ में टिकट के विवाद में टीटीई ने चलती ट्रेन से यात्री को फेंका, मौके पर मौत
Photo courtesy: aaj tak

लखनऊ।  उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। लॉकडाउन के दौरान काम बंद होने पर सिकंदराबाद से देवरिया घर लौट रहे युवक को ट्रेन से धक्का मार कर जान ले ली गई। आरोप है की 500 रुपये चालान के विवाद के बाद टीटीई ने चलती ट्रेन से युवक को नीचे फेंक दिया। युवक बिना टिकट के यात्रा कर रहा था। इसी को लेकर टीटीई के साथ उसकी बहस हो गई। जिसके बाद टीटीई ने पैसे मांगे। पैसे को लेकर हुआ विवाद इतना बढ़ गया कि टीटीई ने उसे धक्का देकर नीचे गिरा दिया। इससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई। इस हादसे से गुस्साए यात्रियों ने टीटीई को पकड़कर जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया।


जानकारी के अनुसार, घटना शनिवार की बताई जा रही है।  गोरखपुर के चौरी-चौरा निवासी गोविंद देवरिया के रहने वाले अपने साले बसंत के साथ सिकंदराबाद से घर लौट रहे थे। ट्रेन नं 02590 सिकंदराबाद-गोरखपुर स्पेशल की बोगी D-3 में गोविंद का रिजर्वेशन था। बोगी में बसंत का चचेरा भाई तारकेश्वर भी सफर कर रहा था। ट्रेन शनिवार को बादशाह नगर पहुंची थी। इस दौरान बोगी में संतकबीर नगर निवासी टीटीई जय नारायण यादव और उनका एक अन्य साथी टीटीई टिकट चेकिंग पर पहुँचा। इस दौरान बसंत के पास टिकट न होने से उनसे 1500 रुपये की चालान की बात कही। बंसन्त ने 1000 रुपए दे दिए और कहा उनके पास 500 रुपये नही है।


इसी बात को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई। कहासुनी झड़प में बदल गई। आरोप है कि टीटीई ने बसंत की पिटाई कर दी। इस बीच ट्रेन बादशाहनगर स्टेशन से रवाना हुई। तभी अपने साथी के साथ टीटीई जय नारायण यादव ने बंसत को लात मार कर उसे चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। इससे असंतुलित होकर वह ट्रेन के बाहर जा गिरा और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।


गुस्साए यात्रियों ने टीटीई जय नारायण यादव की पिटाई कर दी जबकि उसका साथी टीटीई भाग निकला। यात्रियों ने 112 नंबर डायल कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी टीटीई का प्राथमिक उपचार कराया। इस बीच जीआरपी भी पहुंच गई। मृतक के जीजा गोविंद की ओर से जीआरपी थाने में मामला दर्ज कराया गया। फिलहाल, जीआरपी ने आरोपी टीटीई को जेल भेज दिया है।


सौमित्र यादव एसपी रेलवे के अनुसार,  मृतक बसंत देवरिया जिले के रुद्रपुर का रहने वाला था। वह पेंटिंग का काम करता था। सिकंदराबाद से घर वापसी कर रहा था। आरोप है कि टीटीई ने धक्का मार कर गिरा दिया। गिरते ही मौके पर ही उसकी मौत हो गई। आरोपी टीटीई को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।