केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के भाई की कोरोना से मौत, पंचायत चुनाव में हुए थे संक्रमित, दूसरे भाई की हालत गंभीर

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के भाई जितेंद्र बालियान की कोरोना से मौत हो गई है। संजीव बालियान का परिवार पंचायत चुनाव के बाद कोरोना संक्रमित था

Updated: May 18, 2021, 03:20 PM IST

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के भाई की कोरोना से मौत, पंचायत चुनाव में हुए थे संक्रमित, दूसरे भाई की हालत गंभीर
Photo courtesy: aaj tak

दिल्ली। मुज्जफरनगर से सांसद और केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के भाई की कोरोना से मौत हो गई है। मृतक जितेंद्र बालियान केंद्रीय मंत्री के चचेरे भाई (ताऊ के बेटे) हैं। जितेंद्र हाल ही में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में गांव कुटबी के प्रधान बने थे। कोरोना संक्रमित पाए जाने पर पिछले कई दिनों से वो ऋषिकेश एम्स में भर्ती थे। उनके दूसरे भाई की हालत भी गंभीर बनी हुई है। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है। केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का परिवार पंचायत चुनाव के बाद से कोरोना की चपेट में आ गया था।

अप्रैल महीने में हुए राज्य के पंचायत चुनाव में ड्यूटी के दौरान 1621 शिक्षकों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। यह दावा उत्तरप्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से किया गया है। यह आंकड़ा शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों और बेसिक शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को मिलाकर है। 

उत्तरप्रदेश में पिछले 24 घंटे में 9 हजार 391 नए मामले आए हैं। जबकि 23 हजार से अधिक मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। कोरोना से बीते 24 घंटे में 285 लोगों की जान गई है।

लेकिन यूपी में हाल ही में हुए पंचायत चुनाव के बाद से ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है। गांवों में फैले संक्रमण पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी चिंता जाहिर की है। इससे जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने योगी सरकार पर तल्ख टिप्पणी की है। हाईकोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के गांवो, छोटे कस्बों मे चिकित्सा सुविधाओं की स्थिति "राम भरोसे" है।

अदालत ने ये टिप्पणी मेरठ के मेडिकल कालेज से लापता 64 साल के बुजुर्ग संतोष कुमार के मामले में की है। दरअसल, संतोष कुमार की अस्पताल के बाथरूम में गिरकर मौत हो गई थी। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर्स व स्टाफ ने उनकी पहचान करने के बजाय उनके शव को अज्ञात में डाल दिया था।