भगवान विष्णु के अवतार हैं अखिलेश यादव, बाराबंकी के एक परिवार ने शुरू की सपा सुप्रीमो की पूजा

बाराबंकी में समाजवादी पार्टी के समर्थकों ने घर पर अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव की शुरू की पूजा अर्चना, बोले जब तक अखिलेश मुख्यमंत्री नहीं बनते अन्न नहीं ग्रहण करेंगे

Updated: Jan 16, 2022, 05:39 PM IST

भगवान विष्णु के अवतार हैं अखिलेश यादव, बाराबंकी के एक परिवार ने शुरू की सपा सुप्रीमो की पूजा

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश में चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं अजीबोगरीब किस्से भी सामने आ रहे हैं। सभी पार्टियों के नेता और समर्थक एक से एक दावे कर रहे हैं। हालांकि, समाजवादी पार्टी के समर्थकों ने इस मामले में सभी दलों को पीछे छोड़ दिया है। सपा समर्थकों ने मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव को भगवान की उपाधि दे दी है।

मामला बाराबंकी जिले जनपद के कुर्सी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत काकरिया गांव का है। यहां के एक परिवार का कहना है कि अखिलेश यादव कलयुग में भगवान विष्णु का अवतार लेकर आए हैं। इस घर में अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव की पूजा अर्चना शुरू हो गई है। पूजा पाठ में घर की महिलाएं भी बढ़चढ़कर हिस्सा ले रहीं हैं।

परिवार के लोगों का कहना है कि कलियुग में अखिलेश यादव भगवान विष्णु का दूसरा रूप हैं। भगवान विष्णु ने अखिलेश ने लोगों का कल्याण करने के लिए पृथ्वी पर जन्म लिया है। इसलिए हम भगवान अखिलेश यादव की फोटो रखकर बकायदा पूरे विधि-विधान से धूप-अगरबत्ती के साथ पूजा पाठ शुरू कर रहे हैं। रोज नियमित रूप से यहां आरती भी की जाती है।

महिलाओं ने त्यागा अन्न

उधर घर की महिलाओं ने तो अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री बनने तक अन्न भी त्याग दिया है। महिलाओं का कहना है कि जब तक उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार नहीं बन जाती, तब तक वो अनाज का एक दाना मुंह में नहीं रखेंगे। इस दौरान केवल फलाहारी से वे जीवन यापन करेंगी। प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार बनने के बाद ही अनाज ग्रहण करेंगे। मुख्यमंत्री बनने के बाद भी अखिलेश यादव और मुलायम सिंह की पूजा-पाठ आगे भी निरंतर इसी तरह करते रहेंगे।