मास्क न पहनने पर हाथ-पैर में ठोंकी कील, UP पुलिस की बर्बरता की एक और कहानी

रात के 10 बजे बिना मास्क के घर के बाहर बैठा था युवक, परिजनों का आरोप पुलिस ने हाथ-पैर में ठोकी कील, एएसपी बोले- खुद से कील ठोंक पुलिस को बदनाम कर रहा युवक

Updated: May 26, 2021, 08:34 PM IST

मास्क न पहनने पर हाथ-पैर में ठोंकी कील, UP पुलिस की बर्बरता की एक और कहानी

बरेली। कोरोना काल में उत्तरप्रदेश पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। राज्य की बरेली पुलिस द्वारा बर्बरता की सारी सीमाएं लांघते हुए एक युवक के हाथ और पैर में कील ठोक दी गई। युवक का कसूर इतना था कि उसने मास्क नहीं पहना था। लेकिन बरेली एसएसपी कह रहे हैं कि पुलिस को बदनाम करने के लिए युवक ने खुद ही हाथ पैर में कील ठोक ली है।

बरेली के बारादरी थाना इलाके के जोगी नवादा इलाका है, जहां स्थानीय निवासी रंजीत के हाथ-पैर में बड़े-बड़े कील ठुके मिले हैं। रंजीत की मां शीला देवी कहती हैं कि रात के करीब 10 बजे मेरा बेटा बिना मास्क पहने घर के बाहर बैठा हुआ था। इस दौरान गश्त कर रहे तीन पुलिसकर्मी आए और उसे उठाकर थाने ले गए। थाने ले जाकर पुलिस वालों ने उसे बेरहमी से पीटा और हाथ-पैर में कील ठोक दिया। 

बकौल शीला देवी जब वे रंजीत को छुड़ाने थाने गईं तो पता चला कि उसे कहीं और भेज दिया गया है। काफी ढूंढने पर रंजीत मरणासन अवस्था में उन्हें मिला। रंजीत को देखकर परिजनों की रूह कांप गई। उसके हाथ पैर में कील गड़े हुए थे। शीला देवी ने बताया कि जब इस बात को लेकर वह थाने गए तो पुलिस उल्टा मेरे बेटे को ही जेल में डालने की बात करने लगी। रंजीत का कील ठुका फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

उधर इस पूरे घटना को बरेली एसएसपी ने षड्यंत्र करार देते हुए कहा है कि उसने खुद ही हाथ-पैर में कील ठोंक लिया है। बरेली एसएसपी ने कहा, 'सोमवार को युवक बिना मास्क लगाए घूम रहा था। इस दौरान पुलिस ने टोका तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता की। पुलिस ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली तो वह गिरफ्तारी से बचने के लिए साजिश रच रहा है। उधर युवक की मां ने आरोप लगाया है कि अपने कर्मचारियों को बचाने के किए पुलिस के बड़े अधिकारी भी उसके बेटे पर दोष मढ़ रहे हैं।

अभी हफ्तेभर भी नहीं बीते हैं जब उन्नाव पुलिस के बारे में ऐसी ही दर्दनाक खबर आयी थी। उन्नाव में एक सब्जी विक्रेता को पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने के जुर्म में पीट पीटकर मार डाला। दो दिन पहले ही दो आरोपी पुलिसवालों में से एक की गिरफ्तारी हुई है, एक पुलिसवाला अब भी फरार है।