T 20 World Cup: भारतीय वीज़ा के लिए PCB ने ICC से लगाई गुहार, 2021 में भारत में होना है वर्ल्ड कप

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ICC से भारत का वीज़ा जनवरी तक मुहैया कराने को कहा, दिसंबर-जनवरी 2012-13 के बाद से अब तक भारत और पाकिस्तान के बीच एक भी द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं खेली गई

Updated: Oct 19, 2020, 07:26 PM IST

T 20 World Cup: भारतीय वीज़ा के लिए PCB ने ICC से लगाई गुहार, 2021 में भारत में होना है वर्ल्ड कप
Photo Courtesy: Dailytimes

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सीईओ वसीम खान ने आईसीसी से गुज़ारिश की है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद पाकिस्तान क्रिकेट टीम को भारत का वीज़ा अगले साल जनवरी तक मुहैया करा दे। अगले साल होने वाले टी ट्वेंटी विश्वकप की मेज़बानी भारत को करनी है, ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने वीज़ा प्राप्ति के लिए आईसीसी से संपर्क साधा है।  

वसीम खान ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा है कि 'यह आईसीसी का मामला है। हमने अपनी चिंताओं पर चर्चा की है। एक 'होस्ट एग्रीमेंट' है जो बहुत स्पष्ट रूप से कहता है कि मेजबान देश (इस मामले में भारत) को टी 20 विश्व कप में भाग लेने वाली टीमों के लिए वीजा और आवास प्रदान करना होगा और पाकिस्तान उनमें से एक है।' खान ने आगे कहा कि 'हमने आईसीसी से आश्वासन मांगा है कि हमारे खिलाड़ियों को तय समयावधि में वीजा मिल जाएगा। पीसीबी के सीईओ ने जानकारी देते हुए कहा कि 'आईसीसी अब इस मसले पर बीसीसीआई से बात करेगा क्योंकि निर्देश और पुष्टि के लिए स्पष्ट रूप से उन्हें ( बीसीसीआई ) अपनी सरकार से बातचीत करनी होगी।' वसीम खान ने बताया कि पीसीबी ने आईसीसी को वीज़ा मुहैया कराने के लिए दिसंबर-जनवरी तक की डेडलाइन दी है। 

निकट भविष्य में द्विपक्षीय सीरीज़ होने के आसार कम 
वसीम खान ने बताया कि निकट भविष्य में भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय श्रृंखला खेले जाने की संभावना कम ही है। खान ने कहा कि जब तक दोनों देशों के बीच रिश्ते ठीक नहीं होते तब तक दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय श्रृंखला होने की उम्मीद कम ही है। हालांकि वसीम खान ने कहा कि अतीत में  बीसीसीआई और पीसीबी के बीच संबंध काफी सौहार्दपूर्ण रहे हैं। दोनों बोर्ड के बीच एक दूसरे के प्रति बिलकुल भी खटास नहीं है। 

बता दें कि भारत पाक के बीच दिसंबर-जनवरी 2012-13 में द्विपक्षीय श्रृंखला खेली गई थी। तब सरहद पर सेना के जवानों के सिर काटे जाने का मामला सामने आया था। उसके बाद से अब तक भारत और पाकिस्तान के बीच एक भी द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं खेली गई है। हालांकि दोनों ही टीमें आईसीसी के टूर्नामेंट में भिड़ती रही हैं।