वर्ल्ड की यंगेस्ट एस्ट्रोनॉमर बनीं निकोल ओलिवेरा, 8 की उम्र में खोजे 18 एस्टेरॉयड

ब्राजील की निकोल ओलिवेरा को चार साल की उम्र से ही सौरमंडल और उससी जुड़ी चीजों में रुचि रही है, वे बड़ी होकर एयरो स्पेस इंजीनियर बनकर रॉकेट बनाना चाहती हैं

Updated: Oct 04, 2021, 09:50 PM IST

वर्ल्ड की यंगेस्ट एस्ट्रोनॉमर बनीं निकोल ओलिवेरा, 8 की उम्र में खोजे 18 एस्टेरॉयड
Photo Courtesy: India times

ब्राजील की आठ साल की बच्ची निकोल ओलिवेरा आज किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। वे दुनिया की सबसे कम उम्र की एस्ट्रोनोमर बनने का गौरव हासिल करने जा रही हैं। अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA के एक एस्टेरॉयड सर्च प्रोग्राम में ओलिवेरा ने पार्टिसिपेट किया। इसके तहत ओलिवेरा ने अब तक 18 स्पेस रॉक खोजे हैं। अपने कमरे को चांद-तारों से सजा कर सौरमंडल जैसा बनाने वाली ओलिवेरा को बचपन से ही अंतरिक्ष में रुचि रही है। बचपन से ही वे चांद तारों के देखकर खुश होती हैं। आसमान के तारों को देखकर उन्हें पकड़ने के लिए हाथ बढ़ती थी।  

 दरअसल इंटरनेशनल एस्ट्रोनोमिकल सर्च कोलेबोरेशन ने एस्टेरॉयड हंट का आयोजन किया था। इसी से जुड़कर ओलिवेरा ने स्पेस सर्च में कामयाबी हासिल की है। इंटरनेशनल एस्ट्रोनोमिकल सर्च कोलेबोरेशन NASA से संबद्ध एक सिटिजन साइंस प्रोग्राम है। दरअसल ब्राजील की साइंस मिनिस्ट्री NASA समेत कई संस्थाओं के साथ पार्टनर संगठन है। ब्राजील सरकार की मदद से ओलिवेरा को इस कार्यक्रम में भाग लेने का मौका मिला। 

NASA के इस एस्टेरॉयड हंटर्स के जरिए युवाओं को खोजों के लिए प्रेरित करना और उनकी खोज के माध्यम से विज्ञान में रुचि पैदा करना है। बच्ची के कमरे में सौरमंडल की फोटोज लगी हैं। वे छोटे रॉकेट और स्टार वॉर फोटोज का भी शौक रखती हैं। उन्होंने टेलिस्कोप से स्पेस रॉक का पता लगाया है, वे कम्प्यूटर पर भी किसी ट्रेंड व्यक्ति की तरह काम करती हैं। उनका सपना है कि वो बड़ी होकर एरो स्पेस इंजीनियर बने और रॉकेट बनाएं।

18 एस्टेरॉयड खोजने वाली ओलिवेरा निकोल इन स्पेस रॉक का नाम ब्राजील के वैज्ञानिकों और अपनी फैमिली मैंबर्स के नाम पर रखना चाहती है। वे अपनी मम्मी और पापा के नाम पर एक एस्टेरॉयड का नाम रखने वाली हैं। ओलिवेरा पढ़ने में काफी तेज हैं उन्हें एकेडमी स्कॉलरशिप मिली हुई है। वे नार्थ ईस्ट ब्राजील के फोर्टालेजा सिटी में पढ़ती है।

निकोल ओलिवेरा के इन 18 एस्टेरॉयड की स्पेस रॉक की पुष्टि होना बाकी है। बताया जा रहा है कि इसमें कई साल का समय लगता है। आधिकारिक पुष्टि होते ही ओलिवेरा इतालवी शौकिया एस्ट्रोनोमर लुइगी सैनिनो से आगे निकल जाएंगे। 1998 और 1999 में 18 वर्षीय लुइगी सैनिनो दो एस्टेरॉयड खोज चुकी हैं। अपने यूट्यूब चैनल पर, निकोल ने ब्राजीलियाई खगोलशास्त्री डुइलिया डी मेलो जैसे प्रभावशाली व्यक्तियों का साक्षात्कार लिया है, जिन्होंने एसएन 1997डी नामक एक सुपरनोवा की खोज में भाग लिया था।