Nobel Prize For Literature: अमेरिकी कवयित्री लुइस ग्लूक को मिला साहित्य का नोबेल पुरस्कार

लुइस ग्लूक को यह पुरस्कार उनकी शानदार काव्य शैली के लिए दिया गया है

Updated: Oct 08, 2020 10:05 PM IST

Nobel Prize For Literature: अमेरिकी कवयित्री लुइस ग्लूक को मिला साहित्य का नोबेल पुरस्कार
Photo Courtsey: twitter

भारत। नोबेल कमेटी ने गुरुवार को साहित्य के नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी है। अमेरिकी कवयित्री लुइस ग्लूक को यह पुरस्कार दिया गया है। एकेडमी ने पुरस्कार की घोषणा करते हुए कहा कि लुइस ग्लूक को उनकी बेमिसाल काव्यात्मक अभिव्यक्ति के लिए यह सम्मान दिया गया है, जो खूबसूरती के साथ व्यक्तिगत अस्तित्व को सार्वभौमिक बनाती हैं। एकेडमी ने कहा कि उनकी कविताएं बाल्यावस्था, पारिवारिक जीवन, माता-पिता और भाई-बहनों के साथ घनिष्ठ संबंधों पर केंद्रित रही हैं। 2006 में आया उनका संग्रह एवर्नो बेहद शानदार है। 

लुइस ग्लूक येल यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी की प्रोफेसर हैं। उनका जन्म 1943 में न्यूयॉर्क में हुआ था। ग्लूक ने 1968 में 'फर्स्टबोर्न' के साथ अपनी शुरुआत की थी और जल्द ही अमेरिकी समकालीन साहित्य में सबसे प्रमुख कवियों में शामिल हो गई थीं। उनके बारह कविता ओं का संग्रह और कुछ निबंध प्रकाशित हो चुके हैं। लुइस ग्लूक के सबसे प्रशंसित संग्रहों में से एक 'द वाइल्ड आइरिस’ है, जो (1992) में प्रकाशित हुआ था। इस संग्रह की एक कविता 'स्नोड्रॉप्स'  में उन्होंने सर्दियों के बाद जीवन की चमत्कारी वापसी का वर्णन किया है। 

साल 2019 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार आस्ट्रियाई मूल के लेखक पीटर हैंडका को दिया गया था। उन्हें यह पुरस्कार इनोवेटिव लेखन और भाषा में नवीनतम प्रयोगों के लिए दिया गया था। वहीं 2018 का साहित्य का नोबेल 57 साल की पोलिश लेखक टोकार्चुक को जीवन की परिधियों से परे एक कथात्मक परिकल्पना करने के लिए दिया गया था। साल 1913 में भारत के महान साहित्यकार रवींद्र नाथ टैगोर को गीतांजलि के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। यह अवार्ड पाने वाले वह पहले गैर यूरोपीय साहित्यकार थे।