अम्फान: 26 मई तक राज्य में ना भेजी जाएं स्पेशल ट्रेन

पश्चिम बंगाल सरकार ने रेलवे बोर्ड के प्रमुख को पत्र लिखकर यह मांग की है.


Updated: May-23, 2020, 04:03 PM IST

अम्फान: 26 मई तक राज्य में ना भेजी जाएं स्पेशल ट्रेन
Photo: Swaraj Express

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रेल मंत्रालय से चक्रवात ‘अम्फान’ के मद्देनजर 26 मई तक राज्य में श्रमिक विशेष ट्रेनों को नहीं भेजने को कहा है।

राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा की तरफ से रेलवे बोर्ड के प्रमुख वीके यादव को 22 मई को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि राज्य 20 और 21 मई को महाचक्रवात ‘अम्फान’ से बुरी तरह प्रभावित हुआ है जिससे बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है.


बंगाल सरकार के इस पत्र में कहा गया, ‘‘चूंकि जिला प्रशासन राहत एवं पुनर्वास के कार्यों में व्यस्त है इसलिए अगले कुछ दिनों तक विशेष ट्रेनों के यहां पहुंचने पर उन पर ध्यान दे पाना संभव नहीं होगा। इसलिए यह अनुरोध किया जाता है कि 26 मई तक कोई भी ट्रेन पश्चिम बंगाल नहीं भेजी जाए।”

चक्रवात अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में कम से कम 86 लोगों की मौत हो गई है। चक्रवात के कारण जनजीवन प्रभावित होने के बाद अधिकारी स्थिति को सामान्य करने के प्रयासों में जुटे हुए हैं।

रेलवे का कहना है कि एक मई से अब तक करीब 2,000 श्रमिक विशेष ट्रेन चलाई गई हैं जिनमें 31 लाख प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाया गया। बंगाल में अब तक करीब 25 रेलगाड़ियां आईं हैं।

इससे पहले पश्चिम बंगाल में 20 मई को चक्रवात अम्फान के भीषण तबाही मचाने के बाद लाखों लोग बेघर हो गए, कई घर बर्बाद हो गए, हजारों पेड़ उखड़ गए और निचले इलाके जलमग्न हो गए।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, राज्य के करीब 1.5 करोड़ लोग सीधे तौर पर प्रभावित हुए हैं और चक्रवात के कारण 10 लाख से ज्यादा घर नष्ट हो गए।