एंटी करप्शन ब्यूरो के प्रमुख रह चुके सीनियर IPS के यहां ACB का छापा, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत

ACB ने सीनियर IPS जीपी सिंह के 10 ठिकानों पर दी दबिश, रायपुर के घर से मिले अहम सबूत, वर्तमान में वे राज्य पुलिस अकादमी के निदेशक के पद पर कार्यरत हैं, भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति मामले में हो रही कार्रवाई

Updated: Jul 01, 2021, 12:51 PM IST

एंटी करप्शन ब्यूरो के प्रमुख रह चुके सीनियर IPS के यहां ACB का छापा, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत
Photo Courtesy: abp news

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस अकादमी के निदेशक जीपी सिंह पर आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार का आरोप लगा है। इस मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने सीनियर IPS गुरजिंदर पाल सिंह के 10 ठिकानों पर छापा मार कार्रवाई की है। ACB की टीम सीनियर IPS जीपी सिंह के घर की तलाशी में जुटी है। उनके दिल्ली, नोएडा और पंजाब में भी संपत्ति की तलाश की जा रही है। ADG जीपी सिंह 1994 बैच के IPS हैं।

जीपी सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत लंबे समय से की जा रही थी, जिसके बाद अब ACB ने कार्रवाई की है। जीपी सिंह खुद एंटी करप्शन ब्यूरो के चीफ के तौर पर काम कर चुके हैं। जिसके बाद पिछले साल जून में उन्हें पुलिस अकादमी का निदेशक बना दिया गया था। मौजूदा ACB प्रमुख आरिफ शेख से पहले जीपी सिंह ही ACB के प्रमुख थे।    

ACB की कई टीमों ने उनके कई ठिकानों पर दबिश दी है। रायपुर के आवास में एक टीम जांच के लिए पहुंची है। इस कार्रवाई के दौरान ACB को उनके घर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। सीनियर IPS पर आय से अधिक संपत्ति के अलावा भ्रष्टाचार की भी शिकायतें मिलीं हैं।

जीपी सिंह पर कई बार चर्चा में रहे हैं। साल 2011 जब जीपी सिंह बिलासपुर रेंज के आईजी के पद पर थे, तब  बिलासपुर के तात्कालीन SP राहुल शर्मा ने सुराइड कर लिया है। उन्होंने खुद को गोली मारकर जान दे दी थी। तब भी जीपी सिंह पर आरोप लगा था की IPS राहुल शर्मा से उनकी नहीं बन रही थी। लेकिन तब मामले मे उनका नाम नहीं आया था। वहीं 2018 में सत्ता परिवर्तन के बाद जीपी सिंह को ACB चीफ की जिम्मेदारी मिली थी।

एंटी करप्शन ब्यूरो की 10 टीमें जीपी सिंह को कई ठिकानों पर एक साथ कार्रवाई में जुटी हैं। छत्तीसगढ़ में यह पहला मौका है जब पद पर रहते हुए किसी सीनियर IPS अफसर के खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूरो ने छापा मार कार्रवाई की है। पुलिस अकादमी से पहले जीपी सिंह ACB चीफ थे, उससे पहले वे रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग के आईजी की जिम्मेदारी निभा चुके हैं। खबरों की मानें तो जीपी सिंह के करीबियों पर भी सख्त कार्रवाई की जा सकती है, ACB  की राडार पर कई IPS हैं। जिनके संलिप्त होने की आशंका जताई जा रही है।