रसातल में रुपया: डॉलर के मुकाबले पहली बार रुपया 80 के पार, आर्थिक मोर्चे पर बुरी खबर

भारतीय मुद्रा पर अमेरिकी डॉलर का दबदबा लगातार बढ़ता जा रहा है, मंगलवार को शुरुआती कारोबार में ही रुपया 80 के पार पहुंच गया, जो अब तक का रिकॉर्ड निचला स्‍तर है

Updated: Jul 19, 2022, 01:23 PM IST

रसातल में रुपया: डॉलर के मुकाबले पहली बार रुपया 80 के पार, आर्थिक मोर्चे पर बुरी खबर

नई दिल्ली। भारतीय रुपया मंगलवार को पहली बार 80 रुपये प्रति डॉलर के स्तर तक गिर गया। यह रुपये का सार्वकालिक निचला स्तर है। पिछले कुछ दिनों से रुपये में जैसी लगातार गिरावट देखी जा रही थी, उसके बाद यह आशंका थी कि रुपया 80 डॉलर के पार पहुंच जाएगा। सोमवार को रुपया 79.97 प्रति डॉलर के स्तर पर बंद हुआ था। इसके मुकाबले आज यह 79.98 डॉलर प्रति रुपये के मूल्य पर खुला। हालांकि, इसके तुरंत बाद ही गिरकर 80.05 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर आ गया।

यह भी पढ़ें: फन कुचलने का हुनर भी सीखिए, सांप के डर से जंगल नहीं छोड़ा करते, बागियों पर संजय राउत का निशाना

सोमवार को लोकसभा में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने एक लिखित जवाब में आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक बताया कि रुपया 31 दिसंबर, 2014 के रेट के मुकाबले 25 फीसदी तक गिर गया है। 31 दिसंबर, 2014 को डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत 63.33 थी, जो कि 11 जुलाई, 2022 को 79.41 रुपये प्रति डॉलर दर्ज की गई है। यह 25 फीसदी तक की गिरावट है।

डॉलर महंगाई होने से तेल और दाल के लिए अधिक खर्च करने पड़ेंगे, जिसका असर इनकी कीमतों पर होगा। इनके महंगा होने से आपके किचन का बजट बिगड़ सकता है। इसके अलावा विदेश में पढ़ाई, यात्रा, दलहन, खाद्य तेल, कच्चा तेल, कंप्यूटर, लैपटॉप, सोना, दवा, रसायन, उर्वरक और भारी मशीन, जिनका आयात किया जाता है, वह महंगे हो सकते हैं।