पाकिस्तान में भी मॉनसून की बारिश ने मचाई तबाही, अब तक 77 लोगों की मौत, राष्ट्रीय आपदा घोषित

पाकिस्तान में हुई मॉनसून की भीषण बारिश में 77 लोगों की मौत हो गई है, जलवायु परिवर्तन मंत्री शेरी रहमान ने इन मौतों को ‘राष्ट्रीय त्रासदी’ करार दिया है

Updated: Jul 07, 2022, 10:53 AM IST

पाकिस्तान में भी मॉनसून की बारिश ने मचाई तबाही, अब तक 77 लोगों की मौत, राष्ट्रीय आपदा घोषित
Photo Courtesy: AFP

इस्लामाबाद। भारत के बाद अब पाकिस्तान में भी मानसून की बारिश ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान सरकार की जलवायु परिवर्तन मंत्री शेरी रहमान ने बताया कि देश भर में मानसून की बारिश ने अब तक 77 लोगों की जान ले ली है। उन्होंने इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है। 

बारिश के कारण सबसे ज्यादा तबाही बलूचिस्तान प्रांत में मची है। इस प्रांत में अकेले 39 लोगों की मौत हो चुकी है। शेरी रहमान ने कहा कि इस आंकड़े में बच्चे, पुरुष और महिलाएं शामिल हैं। हम राष्ट्रीय और प्रांतीय आपदा प्रबंधन अधिकारियों की मदद से स्थानीय लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं।पाकिस्तान में हुई भयंकर बारिश से सैकड़ों घर तबाह हो गए। मंत्री रहमान ने कहा कि भारी बारिश के कारण दूरदराज के इलाकों में बचाव कार्य में बाधा आ रही है।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में आसमानी आफत, बिजली गिरने से 11 लोगों की मौत, प्रदेशभर में अलर्ट जारी

मंत्री शेरी रहमान ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने राष्ट्रीय मॉनसून को लेकर एक आपात योजना तैयार की है। उन्होंने लोगों से सतर्क रहने का भी अपील की ताकि आगे जानमाल के नुकसान को रोका जा सके। मंत्री शेरी रहमान ने कहा कि इन मौतों और तबाही को रोकने के लिए हमें एक व्यापक योजना की जरूरत है। क्योंकि यह पूरा विनाश जलवायु परिवर्तन के कारण हो रहा है।

पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) के मुताबिक बारिश 8 जुलाई तक जारी रहेगी. मौसम विभाग ने कहा कि सिंध के दक्षिण में निम्न वायुदाब मौजूद है, जो उत्तरी अरब सागर से नमी हासिल कर रहा है। उधर दर्जनों लोगों की मौत के बाद बलूचिस्तान सरकार ने क्वेटा को आपदा प्रभावित क्षेत्र घोषित कर दिया और प्रांतीय राजधानी में आपातकाल की स्थिति लागू कर दी। मूसलाधार बारिश से बलूचिस्तान सूबे की नदियां और नहरें उफान पर हैं।

इधर, भारत में भी मानसूनी बारिश से नदियां उफान पर हैं। असम बाढ़ की चपेट में है, वहीं मुंबई में बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। बारिश के दौरान बिजली गिरने से मध्य प्रदेश में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। भारतीय मौसम विभाग ने कई राज्यों के लिए अलर्ट जारी किया है।