भोपाल: BJP नेता ने गन्ना जूस विक्रेता को बेरहमी से पीटा, नगर निगम से सांठगांठ कर वसूली का मामला

बीजेपी के मंडल अध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने गन्ना जूस विक्रेता को पीटा, नगर निगम से ठेला छुड़ाने के लिए नहीं मांगी थी मदद, कांग्रेस बोली- शिवराज के संरक्षण में पनप रहे गुमटी माफिया, अरुण यादव ने बीजेपी को बताया ओबीसी विरोधी

Updated: Mar 29, 2022, 03:11 PM IST

भोपाल: BJP नेता ने गन्ना जूस विक्रेता को बेरहमी से पीटा, नगर निगम से सांठगांठ कर वसूली का मामला

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में माफ़ियातंत्र का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां बीजेपी के एक नेता ने ठेले वाले की बेरहमी से पिटाई कर दी। कारण था कि ठेले वाले ने नगर निगम से अपना ठेला छुड़ाने के लिए नेताजी से मदद नहीं मांगी। 

दरअसल, यह पूरा मामला नगर निगम से सांठगांठ कर वसूली का है। भोपाल में डीबी मॉल के पास स्थित वाइन शॉप के सामने करीब आधा दर्जन लोग ठेले लगाकर अपने परिवार का पेट पालते हैं। कोई चना, कोई मूंगफली, कोई अंडा बेचता है। नगर निगम इसे अतिक्रमण मानता है। कई बार निगम के अधिकारी आते हैं और ठेले जब्त कर ले जाते हैं। यहीं से माफ़ियातंत्र का खेल शुरू होता है।

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: 8 दिन में सातवीं बार बढ़े तेल के दाम, पेट्रोल 80 पैसे और डीजल 70 पैसे महंगा

निगम ठेला ले जाती है तो ठेले वालों का रोजगार छिन जाता है। मजबूरी में वे सत्तारूढ़ दल के नेताओं के पास जाते हैं। नेताजी उनसे पैसे लेते हैं और फिर निगम को कहा जाता है कि अब ठेला वापस दे दो। अगले दिन दुकानें फिर सज जाती हैं। दो-चार महीनों के अंतराल पर यह होते रहता है। बीते 24 मार्च को भी निगम अधिकारी आए और यहां से ठेले लेकर चले गए।

अगले दिन यानी 25 मार्च को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के गृहजिला दतिया निवासी विजय यादव के गन्ना जूस का ठेला छूट गया। जबकि अन्य सभी लोग बीजेपी मंडल अध्यक्ष राजेंद्र सिंह के पास मदद के लिए पहुंचे। सिंह को जैसे ही यह जानकारी मिली कि विजय ने अपना ठेला खुद ही जाकर छुड़वा लिया तो वे बौखला गए। विजय के मुताबिक सिंह 4-5 साथियों के साथ आए और पास में मौजूद अपने ऑफिस में चलने को कहा।

विजय जब बीजेपी नेता के दफ्तर में पहुंचे तो वहां राजेंद्र ने उनके हाथ पैर बांध कर उन्हें लाठी से पीटा। विजय के मुताबिक जब उन्होंने पुलिस को जाकर बताया तो राजेंद्र फिर वापस आए और पुलिस के सामने गालीगलौज की और धमकी दी। इस दौरान पुलिसकर्मी भी मूकदर्शक बने रहे। इसका वीडियो भी सामने आया है। घटना के बाद से वह बेहद डरे हुए हैं। मामले को लेकर एमपी नगर थाने के टीआई सुधीर अरजरिया ने बताया कि आरोपी बीजेपी नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने इस घटना का वीडियो ट्वीट कर कहा, 'भाजपा के नेताओं की गुंडागर्दी जारी है, अब एमपी नगर मंडल अध्यक्ष राजेंद्र सिंह सड़क किनारे गन्ने के जूस का ठेला लगाकर व्यवसाय करने वाले विजय से मारपीट और गाली गलौज कर रहे है, गृह मंत्री नरोत्तम जी आपकी गृह विधानसभा क्षेत्र के लोग भोपाल मे पीटे जा रहे है।' यादव ने बीजेपी को ओबीसी विरोधी करार दिया है। 

युवा कांग्रेस नेता विवेक त्रिपाठी ने इस पूरे घटना को लेकर शासन प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। त्रिपाठी ने कहा कि, 'पूरे भोपाल में बीजेपी नेताओं और निगम अधिकारियों की सांठगांठ से अवैध वसूली का खेल चल रहा है। सीएम शिवराज के संरक्षण में यहां बड़े-बड़े गुमटी माफिया और रेहड़ी माफिया पनप गए हैं। पुलिस भी गुमटी माफियाओं से डरती है। येलोग गरीबों ठेलेवालों की मजबूरी का नाजायज फायदा उठाकर लाखों रुपए की उगाही करते हैं।'