देवास में कांग्रेस का ज़ोरदार प्रदर्शन, ट्रैक्टर रैली निकालकर किया किसानों का समर्थन

Dewas Congress Rally: कांग्रेस नेता अरुण यादव और सज्जन सिंह वर्मा के नेतृत्व में प्रदर्शन, राष्ट्रपति के नाम कृषि क़ानून विरोधी ज्ञापन कलेक्टर को सौंपा

Updated: Jan 08, 2021, 01:55 AM IST

देवास में कांग्रेस का ज़ोरदार प्रदर्शन, ट्रैक्टर रैली निकालकर किया किसानों का समर्थन
Photo Courtesy : Twitter/INCMP

देवास। मोदी सरकार के तीन कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों की ट्रैक्टर रैली का मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी खुला समर्थन किया है। इसी सिलसिले में प्रदेश के देवास में कांग्रेस ने भी एक ज़ोरदार ट्रैक्टर रैली निकाली। मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव की अगुवाई में निकाली गई इस ट्रैक्टर रैली में पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा समेत कई कांग्रेस नेताओं ने हिस्सा लिया। अरुण यादव ने ख़ुद ट्रैक्टर की स्टियरिंग सँभाली जबकि सज्जन सिंह वर्मा उनके साथ ट्रैक्टर पर सवार रहे।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपनी इस रैली की तस्वीरें और वीडियो जारी करते हुए ट्विटर पर लिखा है,  “देवास कांग्रेस का प्रदर्शन, तीनों काले कृषि क़ानून वापस लो। पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरूण यादव एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन वर्मा जी के नेतृत्व में देवास कांग्रेस द्वारा तीनों काले कृषि क़ानून वापस लेने के लिये प्रदर्शन किया गया। शिवराज जी, आपके अंत का आरंभ हो चुका है।”

 

 

यह भी पढ़ें :हजारों किसानों ने निकाली ट्रैक्टर रैली, केंद्रीय मंत्रियों के बयानों से किसान नेता नाराज़

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने अपने एक और ट्वीट में कहा है, “किसानों के सम्मान में, कांग्रेस लड़ेगी मैदान में। देवास कांग्रेस द्वारा मोदी की किसान विरोधी साज़िशों को बेनक़ाब करते हुये विरोध प्रदर्शन किया गया और तीनों काले क़ानून वापस लेने के लिये ज्ञापन सौंपा गया। ये युद्ध है, किसानों के अधिकार का, अब चरम है, मोदी राज के अहंकार का।

 

 

पूरे प्रदेश में किसानों का मुद्दा उठाएगी कांग्रेस

देवास में जिस वक़्त कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता ट्रैक्टर रैली निकालकर देश के किसानों का समर्थन कर रहे थे, राजधानी भोपाल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके मोदी सरकार के लाए कृषि क़ानूनों पर तीखे हमले किए। इतना ही नहीं, कांग्रेस ने 15 जनवरी को प्रदेश के सभी ज़िलों में दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक चक्काजाम करने और 23 जनवरी को किसानों की अगुवाई में राजभवन का घेराव करने का एलान भी किया है। इसके अलावा कांग्रेस ने प्रदेश में किसान सम्मेलनों का सिलसिला शुरू करने की घोषणा भी की है। ऐसा पहला किसान सम्मेलन 16 जनवरी को छिंदवाड़ा में होगा, जबकि 20 जनवरी को मुरैना में किसान सम्मेलन किया जाएगा।