अपनी मां का दूध पिया है तो मेरे घुटने तोड़ कर दिखा, कांग्रेस नेता ने बीजेपी MLA रामेश्वर शर्मा को दी चुनौती

रामेश्वर शर्मा के हिंसक बयान पर भड़के कांग्रेस नेता व पूर्व विधायक जितेंद्र डागा, शर्मा को दी खुली चुनौती, कलखेड़ा आ रहा हूं, मां का दूध पिया है तो घुटने तोड़कर दिखाओ

Updated: Nov 21, 2021, 09:54 AM IST

अपनी मां का दूध पिया है तो मेरे घुटने तोड़ कर दिखा, कांग्रेस नेता ने बीजेपी MLA रामेश्वर शर्मा को दी चुनौती

भोपाल। बीजेपी के बड़बोले विधायक रामेश्वर शर्मा को कांग्रेस नेताओं के घुटने तोड़ने वाली धमकी भारी पड़ गई है। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के बाद अब कांग्रेस के पूर्व विधायक जितेंद्र डागा ने उन्हें खुली चुनौती दे डाली है। डागा ने कहा है कि मैं आ रहा हूं, अपनी मां का दूध पिया है तो मेरे घुटने तोड़कर दिखा।जितेंद्र डागा ने शर्मा को जगह और समय भी बताया है। वे रविवार को कलखेड़ी पहुंच रहे हैं। 

कांग्रेस नेता ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि हम गांधीजी के आदर्शों पर चलने वाले लोग हैं। हम अहिंसावादी हैं लेकिन जिस तरह गांधीजी ने अंग्रेजों का सामना किया था। उसी तरह हम भी अंग्रेजों की शैली पर चलकर हिंसा और आंतक फैलाने वालों इन भाजपाइयों का अहिंसावादी तरीके से ही विरोध करेंगे। हमने तो अपनी मां का दूध पिया है हम गलत लोगों का विरोध करेंगे, जनता को इनकी असलियत बताएंगे, यदि विधायक ने अपनी मां का दूध पिया हो तो मेरे सामने आएं।

यह भी पढ़ें: हिंदू महासभा ने अब PM मोदी के लिए उगला जहर, कहा- जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं

डागा ने यह चुनौती रामेश्वर शर्मा के उस बयान की प्रतिक्रिया स्वरूप दी है जो उन्होंने कलखेड़ा में दिया था। दरअसल, बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वे कांग्रेस के खिलाफ हिंसक और भड़काऊ बातें कर रहे हैं। शर्मा कहते हैं कि, 'कांग्रेस का कोई भी आदमी इधर आए तो उसके घुटने तोड़ दो। दलालों के लिए नो एंट्री। यहां नेतागिरी नहीं करना।' 

मामले पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी संज्ञान लिया है। सिंह ने खुली चुनौती देते हुए कहा है कि 24 नवंबर को मैं आ रहा हूं, और रामेश्वर शर्मा के घर में 1 घंटे तक रामधुन करूंगा। जिसमें ताकत हो वो मेरे घुटने तोड़ दे।' दिग्विजय सिंह के इस घोषणा के बाद मध्य प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। उधर अपनी मुश्किलें बढ़ता देख रामेश्वर शर्मा बैकफुट पर आ गए हैं और स्वल्पाहार की व्यवस्था करने की बात कर रहे हैं।