मध्य प्रदेश में 1 अप्रैल से स्कूल खुलने के आसार नहीं, मुख्यमंत्री शिवराज ने दिए संकेत

कोरोना के चलते घर से बाहर होली मनाने पर भी लग सकती है रोक, सोमवार को अधिकारियों के साथ बैठक के बाद हो सकता है एलान

Updated: Mar 21, 2021, 04:21 PM IST

मध्य प्रदेश में 1 अप्रैल से स्कूल खुलने के आसार नहीं, मुख्यमंत्री शिवराज ने दिए संकेत
Photo Courtesy: Newstrack

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना इंफेक्शन के मामले तेज़ी से बढ़ने का असर स्कूलों पर भी पड़ सकता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ताज़ा बयान से साफ है कि प्रदेश में पहली से आठवीं कक्षा तक की ऑफलाइन पढ़ाई 1 अप्रैल ‌से शुरू हो पाना मुश्किल है। स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने नए सत्र में 1 अप्रैल से 1 से 8 वीं तक के स्कूलों को खोलने की बात कही थी। लेकिन मुख्यमंत्री ने आज मीडिया से कहा कि कोरोना महामारी के ताज़ा हालात को देखते हुए स्कूल अभी नहीं खोले जा सकते हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि होली के त्यौहार को देखते हुए सरकार सोमवार को कोई बड़ा निर्णय ‌ले सकती है। मुख्यमंत्री सोमवार को क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के साथ बैठक करने जा रहे हैं। जिसमें कई अहम फैसले किए जा सकते है। शिवराज ने कहा कि कोरोना संक्रमण खतरनाक तरीके से आगे बढ़ रहा है, इसलिए होली घर में ही मनाना जरूरी है और इसके लिए 'मेरी होली मेरे घर' का नारा हम दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि सोमवार को अधिकारियों ‌के साथ बैठक में इस पर निर्णय लिया जाएगा।

प्रदेश सरकार मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग पर ज़ोर देने के लिए 23 मार्च से एक विशेष अभियान भी शुरू करने जा रही है। इस अभियान की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 23 मार्च को प्रदेश के हर शहर में सुबह 11 बजे और शाम 7 बजे दो मिनट के लिए सायरन बजाकर मास्क लगाने का संकल्प दिलाया‌ ‌जाएगा। जो जहां होगा, वहीं खड़े होकर सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने का संकल्प लेगा।

शिवराज सिंह चौहान ने सभी दुकानदारों से अपील की है कि वे अपनी दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए चॉक से गोला बनाएं। साथ ही दुकानों पर आने वाले ग्राहकों को सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाए रखने का संकल्प दिलाएं। मुख्यमंत्री ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आने वाले दिनों में कोई सख्त कदम उठाने के संकेत भी दिए हैं।