भोपाल में चयनित शिक्षकों का प्रदर्शन, भर्ती प्रक्रिया में बड़े स्तर पर गड़बड़ी का आरोप

स्कूल शिक्षा विभाग में चल रही भर्तियाें की विसंगतियों को लेकर चयनित शिक्षकों का प्रदर्शन, भोपाल में अलग अलग जगहों पर धरने पर बैठे प्रदेशभर से आए चयनित शिक्षक।

Updated: Nov 07, 2022, 02:35 PM IST

भोपाल में चयनित शिक्षकों का प्रदर्शन, भर्ती प्रक्रिया में बड़े स्तर पर गड़बड़ी का आरोप

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने विधानसभा चुनाव को देखते हुए चयनित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। बावजूद राज्य सरकार के खिलाफ चयनित शिक्षकों का गुस्सा कम होता नहीं दिख रहा है। भर्ती प्रक्रिया में व्याप्त विसंगतियों के खिलाफ एक बार फिर चयनित शिक्षकों ने मोर्चा खोल दिया है।

सोमवार को प्रदेशभर से चयनित शिक्षक भोपाल पहुंचे। राजधानी में प्रदर्शन की अनुमति नहीं होने के बाद भी बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी अलग-अलग जगहों पर एकत्र हुए और धरने पर बैठ गए।प्रदर्शनकारियों ने इस बार किसी एक जगह प्रदर्शन के बजाए अलग-अलग जगह पर प्रदर्शन की रणनीति बनाई थी, ताकि मंत्री और अधिकारियों से मुलाकात की जा सके।

यह भी पढ़ें: साहब हम जिंदा हैं, कागजों में मृत घोषित कर दिया, जिंदा होने का सबूत लेकर भटक रहे सिंगरौली के 9 ग्रामीण

चयनित शिक्षकों की अलग-अलग टीमें स्कूल शिक्षा मंत्री, बल्लभ भवन, सतपुड़ा लोक शिक्षण संचालनालय समेत अन्य जगह पर जमा हुए हैं।प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एक ही चयनित अभ्यर्थी के दोबारा नाम आ रहे हैं। ऐसे में कई चयनित अभ्यर्थी के नाम ही नहीं आ पा रहे हैं। प्रदर्शन में शामिल महिला अभ्यर्थियों ने जहर खाने तक की चेतावनी दी है।

शिक्षक पात्रता परीक्षा संघ के रंजीत गौर ने कहा कि कई सदस्यों के फोन आ रहे हैं जो लिस्ट आई है, उसमें पुन: नामों की पुनरावृत्ति की जा रही है। कुछ नाम तो ऐसे हैं, जिनके नीचे के नंबर/रैंक वालों के नाम आ गए हैं। इस बार भी यह भर्ती पूरी नहीं हो सकेगी, क्योंकि दोनों विभागों द्वारा जो चयन सूची जारी की है, उनमें उम्मीदवारों के नाम रिपीट हो रहे हैं। कई नाम दोनों विभागों की सूची में है।