बीजेपी में श्रीमंत को कैटरिंग का काम मिला है, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने सिंधिया पर बोला हमला

ग्वालियर में नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस में वे श्रीमंत थे, बीजेपी में उन्हें केटरिंग का काम मिला है

Updated: Jun 05, 2022, 06:27 PM IST

बीजेपी में श्रीमंत को कैटरिंग का काम मिला है, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने सिंधिया पर बोला हमला

ग्वालियर। मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने सिंधिया पर जोरदार हमला बोला है। कांग्रेस नेता ने कहा है कि सिंधिया को भारतीय जनता पार्टी में कैटरिंग का काम मिला है। सिंह ने यह बयान उस तस्वीर को लेकर दिया है, जिसमें बीते दिन ग्वालियर प्रवास के दौरान वे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को बिस्किट सर्व करते दिखे थे।

दरअसल, महाकौशल दौरे के दौरान जेपी नड्डा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सीएम शिवराज सिंह और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा अनुसूचित जनजाति मोर्चा सोशल मीडिया प्रभारी आशीष अहिरवार के घर पहुंचे थे। यहां सिंधिया नड्डा की खातिरदारी में जुटे दिखे। वे आशीष के घर के अंदर किचन में गए और वहां से बिस्किट लाकर स्वयं जेपी नड्डा को सर्व करने लगे। इस घटना की तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है।

यह भी पढ़ें: हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं, प्रवक्ता नुपुर शर्मा के विवादित बयान से BJP ने किया किनारा

इसी तस्वीर को लेकर भिंड से भोपाल के लिए रवाना होने से पहले ग्वालियर स्टेशन पर नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह से मीडिया ने सवाल पूछा तो उन्होंने सिंधिया को केटरिंग वाला करार दिया। सिंह ने कहा कि, 'कांग्रेस में सिंधिया श्रीमंत थे अब भाजपा में उन्हें केटरिंग का काम मिला है। बधाई देते हैं भाजपा ने सिंधिया को महराजा से साधारण इंसान बना दिया। सिंधिया को भी केटरिंग की जिम्मेदारी मिलने की बधाई।'

इस दौरान नेता प्रतिपक्ष ने सिंधिया समर्थक व प्रदेश के ऊर्जा मंत्री पर भी खूब बरसे। उन्होंने कहा कि, बिजली के बिना पूरे मध्य प्रदेश में त्राहिमाम है। गोहद चौराहा पर पिछले पांच दिन से बिजली नहीं है। लोग गर्मी और बिजली न होने से परेशान हैं। सवाल प्रदेश में बिजली संकट का है, लेकिन ऊर्जा मंत्री महाराष्ट्र और राजस्थान की बात कर रहे हैं। क्या वह गए हैं वहां कभी। उन्हें बस कुछ भी बोलना है।'

यह भी पढ़ें: दफ्तर दरबारी: इस्‍तीफा देने वाले आईएएस के मन में क्‍या, एमपी दोहराएगा यूपी का इतिहास

सिंह ने आगे कहा कि, 'तोमर ने बीजेपी में जाने के बाद झूठ बोलने की ट्रेनिंग ले ली है। यदि बिजली नहीं है तो उसे स्वीकार करें। व्यवस्था करने में असफल हैं तो मान लें। पर यहां वहां अन्य राज्यों के हालातों का जिक्र कर बहाने बाजी न करें। विद्युत के मामले में सरकार असफल हो चुकी है। बिजली संकट को लेकर श्वेत पत्र जारी करे सरकार। जनता ने आपको यहां सत्ता सौंपी है लेकिन आप मुंबई, राजस्थान की बात कर रहे हैं। उन्हें ज्यादा शौक है तो राजस्थान चले जाएं।'